एक दुल्हन के अपहरण से शेखावाटी में मचा बवाल, जानें- क्या है पूरा मामला
Sikar News in Hindi

एक दुल्हन के अपहरण से शेखावाटी में मचा बवाल, जानें- क्या है पूरा मामला
अपहरण केस में पीड़ित दुल्हन.

सीकर की एक 20 साल की युवती के अपहरण ने राजस्थान के शेखावाटी इलाके में ऐसा तूल पकड़ा की माहौल बिगड़े देर नहीं लगी. गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउटंर मामले के बाद ये पहला मौका था जब शेखावाटी में राजपूत समाज फिर से सड़कों पर उतरा आया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2019, 6:30 PM IST
  • Share this:
राजस्थान के सीकर जिले में एक 20 साल की युवती के अपहरण ने ऐसा तूल पकड़ा की माहौल बिगड़े देर नहीं लगी. गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउटंर मामले के बाद ये पहला मौका था जब शेखावाटी में राजपूत समाज फिर से सड़कों पर उतरा आया. कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करना पड़ा. दरअसल, युवती राजपूत समाज से थी और शादी के चंद घंटे बाद ही उसका अपहरण करने वाले आरोपी जाट समुदाय से थे. जिन परिस्थितियों में वारदात हुई, दोनों समुदायों के बीच माहौल बिगड़ने की आशंका बढ़ने लगी. पुलिस प्रशासन को 12 घंटे तक इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी. हालांकि, माहौल और बिगड़ता इससे पहले ही पुलिस अगवा दुल्हन और तीनों आरोपियों को पकड़ने में सफल रही. पुलिस की इस सफलता ने शेखावाटी में तनाव और बढ़ता इससे पहले ही हालात पर काबू पा लिया.

ये भी पढ़ें- सीकर दुल्हन अपहरण कांड: हंसा के बयान ने बढ़ाया पुलिस का सिरदर्द

ये है पूरा मामला(Photos)



दुल्हन अपहरण की यह वारदात 16 अप्रैल यानी मंगलवार को देर रात हुई. सीकर जिले के धोद थाना इलाके के नागवा गांव से दो बहनों की डोली उठी और दुल्हनें अपने दूल्हों के साथ ससुराल के लिए रवाना हुई. करीब 3 बजे दोनों दुल्हनें और दूल्हे इनोवा कार से गांव से करीब 4-5 किलोमीटर दूर पहुंचे थे. तभी वारदात हुई. रामबक्सपुरा गांव के स्टैंड के पास दूल्हा-दुल्हन की इनोवा को एक पिकअप जीप और बोलेरो से घेर लिया गया. इनोवा कार पर हमला बोल दिया गया. कार पर ताबड़तोड़ वार कर तोड़फोड़ की गई. इसी दौरान एक दूल्हन हंसा को बदमाशों ने कार से नीचे उतारा और जबरन अपने साथ ले गए.
पुलिस में मामला दर्ज, प्रदर्शन

मंगलवार रात को ही तत्काल पुलिस का सूचना दी गई. परिजनों ने दो युवकों को नामजद करते हुए 7-8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया.दु ल्हन के अपहरण के साथ ही बदमाश कार से 20 हजार रुपए और दुल्हनों के गहने भी लूट ले गए. इस वारदात की सूचना के बाद अगले दिन (17 अप्रैल) को राजपूत समाज ने अपहरण मामले में सीकर एसपी बंगले के सामने प्रदर्शन किया. उदयपुरवाटी विधायक राजेंद्र गुढ़ा ने पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह करने का प्रयास किया. गुरुवार तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर लोकसभा चुनाव में मतदान के बहिष्कार और प्रदर्शन की चेतावनी दी.

sikar, dulhan
राजपूत समाज का प्रदर्शन.


तीन दिन का अल्टीमेटम, राजपूत समाज का धरना

घटना के दूसरे दिन गुरुवार (18 अप्रैल) को सुबह से ही आरोपियों की गिरफ्तारी और दुल्हन की बरामदगी की मांग पर राजपूत छात्रावास में समाज के लोग जुटने लगे. आक्रोशित लोगों ने रास्ते पर जाम लगा दिया. सोशल मीडिया पर वारदात को लेकर राजपूत समाज के जुड़े ग्रुप और फेसबुक पर उत्तेजक पोस्टों ने आग में घी का काम किया. कलेक्टर निवास पर सामने रास्ता जाम कर दिया गया. विधायक राजेंद्र गुढ़ा सहित राजपूत समाज के सैकड़ों लोग जमा हुए और दिनभर हंगामा होता रहा. राजेंद्र गुढ़ा ने फिर से आत्मदाह की चेतावनी दी. मौके पर भारी पुलिस वाले तैनात किया गया. अतिरिक्त जिला कलेक्टर और एडिशनल एसपी राजपूत समाज को मनाने में जुटे. आखिर राजपूत छात्रावास के बाहर धरना शुरू हो गया और पुलिस को तीन दिन का समय दिया गया.

सीकर चलो का आह्वान, इंटरनेट बंद, सरकारी गाड़ी में आग
शनिवार (20 अप्रैल) को पुलिस को दिया तीन दिन का अल्टीमेटम पूरा हो गया. आरोपियों की गिरफ्तारी और दुल्हन की बरामदगी नहीं होने पर सोशल मीडिया पर 'सीकर चलो' का आह्वान कर दिया गया. समाज से जुड़े संगठनों और नेताओं के आह्वान को देखते हुए प्रशासन ने सुबह 6 बजे से सीकर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी. 12 घंटे तक इंटरनेट सेवाएं बंद रखी गई लेकिन समाज के लोगों का सुबह 11 बजे से सीकर पहुंचना शुरू हो गया. बड़ी संख्या में राजपूत समाज के लोग इकट्‌ठा होने लगे, पुलिस के साथ संघर्ष और तनाव का माहौल बढ़ता गया. इस दौरान एक सरकारी वाहन में आग लगाने की घटना भी सामने आई.

चार दिन बाद कामयाबी, देहरादून में मिली दुल्हन
एसआई सवाई सिंह की अगुवाई में देहरादून भेजी गई राजस्थान पुलिस की एक टीम ने शनिवार रात दुल्हन और अपहरण के आरोपी युवकों को पकड़ लिया. इनमें मुख्य आरोपी अंकित सेवदा, उसका दोस्त विकास भामू और अपहरण में सहयोगी रोके शामिल हैं. रविवार दोपहर को सभी के साथ पुलिस सीकर पहुंची. रविवार रात को ही दुल्हन हंसा को उसके परिजनों के साथ घर भेज दिया गया.

sikar police
जांच अधिकारी.


दस्तयाब बालिका कानूनन बालिग है, विधि के अनुसार बालिग कहीं भी जाने का स्वतंत्र है. उसने लिखित में अपनी मां के साथ अपनी बुआ के पास जाने इच्छा जाहिर की है.
महावीर सिंह राठौड़, जांच अधिकारी


आरोपियों को कोर्ट में पेश

जांच अधिकारी महावीर सिंह राठौड़ ने बताया कि दुल्हन बालिग है और उसने लिखित में अपनी बुआ के घर जाने की इच्छा जताई गई. दुल्हन को परिजनों के साथ भेज दिया गया. फिलहाल, अपहरण के आरोपी युवकों को पुलिस सोमवार को कोर्ट में पेश करने वाली है और युवती के बयान भी दर्ज करवाए जाने हैं. युवती ने पुलिस के समक्ष दिए बयानों में उसे जबरन लेकर जाने की बात कही है. हालांकि कोर्ट में दर्ज बयानों के आधार पर मामला आगे बढ़ेगा. उधर, धरने पर बैठे राजपूत समाज के लोगों ने शनिवार रात से प्रदर्शन बंद कर दिया था. समाज के लोग अब आरोपियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading