Home /News /rajasthan /

Unique initiative: सीकर में क्वॉरेंटाइन सेंटर में सुविधाओं से अभिभूत हुए मजदूर, रंगाई-पुताई कर लौटाया मान-सम्मान

Unique initiative: सीकर में क्वॉरेंटाइन सेंटर में सुविधाओं से अभिभूत हुए मजदूर, रंगाई-पुताई कर लौटाया मान-सम्मान

मजूदूरों ने सरपंच से कहा कि अगर वे उन्हें भवनों की पुताई का सामान ला दें तो सभी मिलकर इनमें रंग रोगन कर देंगे.

मजूदूरों ने सरपंच से कहा कि अगर वे उन्हें भवनों की पुताई का सामान ला दें तो सभी मिलकर इनमें रंग रोगन कर देंगे.

कोरोना (COVID-19) संकट काल में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सीकर जिले के पलसाना कस्बे में बनाए गए बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर्स (Quarantine Center) में ठहरे प्रवासी मजदूरों ने एक अनूठी पहल की है.

सीकर. कोरोना (COVID-19) संकट काल में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सीकर जिले के पलसाना कस्बे में बनाए गए बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर्स (Quarantine Center) में ठहरे प्रवासी मजदूरों ने एक अनूठी पहल की है. राजस्थान समेत प्रदेश से सटे मध्यप्रदेश, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के ये मजदूर क्वॉरेटाइन सेंटर में जब ठाले बैठे-बैठे बोर हो गए तो उन्होंने इन सेंटर्स में रंगाई-पुताई का काम शुरू कर दिया. इन मजदूरों का कहना है कि ग्रामीणों और प्रशासन ने उनकी बेहतर देखभाल की है तो उनका भी फर्ज बनता है कि वे भी इस कस्बे के लोगों को कुछ देकर जाएं. खाली बैठे हैं तो इससे बेहतर कोई और कोई काम हो नहीं सकता.

क्वॉरेंटाइन का समय पूरा हो गया, लेकिन जा नहीं सकते
सीकर से करीब 30 किलोमीटर दूर पलसाना कस्बे में शहीद सीताराम कुमावत और सेठ केएल ताम्बी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में जिला प्रशासन की ओर से दो क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं. इनमें राजस्थान समेत 4 प्रदेशों के करीब 54 मजदूरों को क्वॉरेंटाइन किया हुआ है. इनका क्वॉरेंटाइन का समय पूरा हो गया है, लेकिन लॉकडाउन के चलते वे अभी जा नहीं सकते. इन मजदूरों ने 3-4 दिन पहले सरपंच और गांव के प्रमुख लोगों को कहा कि संकट के समय यहां के प्रशासन और ग्रामीणों ने उनकी अच्छी तरह से देखभाल की है. लेकिन उन्हें बैठे-बैठे खाना अच्छा नहीं लगता है. वे मेहनत-मजदूरी करने वाले लोग हैं, लिहाजा ठाले नहीं बैठ सकते हैं. काम नहीं करेंगे तो आदत छूट जाएगी.

मजदूर बोले कस्बे के लिए कुछ करना हमें भी अच्छा लगेगा
मजूदूरों ने सरपंच से कहा कि अगर वे उन्हें इन भवनों की पुताई का सामान ला दें तो सभी मिलकर इनमें रंग रोगन कर देंगे. इससे हमें काम भी मिल जाएगा और इस कस्बे के लिए कुछ करना अच्छा  भी लगेगा. इस पर सरपंच और स्कूल स्टाफ ने उनको रंग रोगन का सामान उपलब्ध करवा दिया. उसके बाद सभी मजदूर स्कूलों की रंगाई-पुताई में जुट गए. यहां ये मजदूर बड़ी मेहनत के साथ अब रंगाई पुताई में लगे हैं.

यह सभी के लिए अनुकरणीय है
इस बीच जब इस सेंटर का निरीक्षण करने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव जगतसिंह पंवार वहां पहुंचे तो वे भी मजदूरों की भावना को देखकर आश्चर्यचकित रह गए. पंवार ने सेंटर का निरीक्षण कर मजदूरों से लंबी चर्चा की. पंवार ने मजदूरों की भावना का सम्मान करते हुए कहा कि यह प्रदेशभर में अपने आप में अनूठी पहल है. इन मजदूरों ने एक परिवार की भांति इस कार्य को अंजाम दिया है. यह सभी के लिए अनुकरणीय है.

COVID-19: उदयपुर में क्वॉरेंटाइन किए गए श्रमिक बने 'Corona Warrior'

Good News: राजस्‍थान सरकार ने मनरेगा श्रमिकों की मजदूरी बढ़ाई 

Tags: Corona Days, Lockdown, Rajasthan news, Sikar news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर