दीक्षित के आश्रम कैदखाने, लड़कियों को मुक्त कराएं- बाल आयोग

राज्य बाल आयोग की टीम ने गुरुवार को दीक्षित के इन दोनों आश्रम का दौरा किया.

News18Hindi
Updated: January 12, 2018, 8:41 AM IST
दीक्षित के आश्रम कैदखाने, लड़कियों को मुक्त कराएं- बाल आयोग
वीरेन्द्र देव दीक्षित के राजस्थान में भी आश्रम संचालित हो रहे हैं.
News18Hindi
Updated: January 12, 2018, 8:41 AM IST
राजस्थान राज्य बाल आयोग ने राजस्थान के माउंट आबू और आबू रोड स्थित वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रमों को कैदखाना बताते हुए वहां से लड़कियों को मुक्त कराने की बात कही है. आयोग की टीम ने गुरुवार को दीक्षित के इन दोनों आश्रम का दौरा किया और इसके बाद इन्हें कैदखाना बताते हुए गैरकानूनी बताया. आयोग की टीम को माउंट आबू आश्रम में 60 और आबूरोड आश्रम में 72 लड़कियां मिलीं.

राज्य बाल आयोग की सदस्य उमा रत्नू ने कहा कि लड़कियों की उम्र 18 साल से कम है. आश्रम में रहने, खाने और सोने की कोई व्यवस्था नहीं है. आयोग ने इन लड़कियों को तुरंत परिजनों तक पहुंचाने या दूसरी जगह शिफ्ट करने काे कहा है.

बता दें कि कुछ समय पहले पुलिस ने आश्रम के प्रबंधक से युवतियों से संबंधित दस्तावेज मांगें गए थे. हालांकि तब पुलिस को आश्रम की जांच में किसी प्रकार की संदिग्ध गतिविधयां नहीं नजर आई थी. थानाधिकारी मिठ्ठू लाल ने बताया था कि वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर आश्रम की जांच की गई थी. आश्रम में 72 युवतियां ठहरी हुई थीं. युवतियों से पूछताछ में पता चला कि सभी युवतियां अपने इच्छानुसार वहां रुकी हुई थी और उन्हें किसी प्रकार की समस्या नहीं थी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर