Home /News /rajasthan /

राजस्थान बॉर्डर पर गुजरात पुलिस ने पकड़ी 37 लाख की अवैध शराब

राजस्थान बॉर्डर पर गुजरात पुलिस ने पकड़ी 37 लाख की अवैध शराब

अवैध शराब से भरा ट्रक

अवैध शराब से भरा ट्रक

ट्रक में चूने के कट्टे की नीचे शराब छिपाकर रखा गया था. ये कारवाई राजस्थान की आखरी चौकी आबुरोड़ रीको थाना क्षेत्र के मावल चौकी से कुछ ही दूरी पर हुई. ट्रक में भारी मात्रा में शराब लदी थी, जिसकी कीमत करीब 37 लाख रुपये है.

    राजस्थान से गुजरात में प्रवेश कर रहे अवैध शराब से भरे ट्रक को गुजरात पुलिस ने जब्त कर ली है. ट्रक में चूने के कट्टे की नीचे शराब छिपाकर रखा गया था. ये कारवाई राजस्थान की आखरी चौकी आबुरोड़ रीको थाना क्षेत्र के मावल चौकी से कुछ ही दूरी पर हुई. ट्रक में भारी मात्रा में शराब लदी थी, जिसकी कीमत करीब 37 लाख रुपये है. शराब के साथ पुलिस ने ट्रक चालक और खलासी को भी गिरफ्तार किया है.

    जानकारी के मुताबिक राजस्थान-गुजरात सीमा पर अमीरगढ़ थाने की पुलिस ने जांच के दौरान कार्रवाई करते हुए करीबन 37 लाख रुपये की अंग्रेजी शराब के साथ दो युवकों को गिरफतार किया है. गुजरात पुलिस की यह कार्रवाही राजस्थान सीमा पर तैनात पुलिस पर सवालिया निशान खड़े करती है.

    पुलिस ने बताया कि नेशनल हाईवे पर वाहनों की जांच के दौरान राजस्थान कि ओर से आ रही ट्रक आर जे 06- जीए 4716 को जब रोककर चेक किया गया तो चूने के कट्टों के निचे शराब मिला. ट्रक में रखी अंग्रेजी शराब के 507 कार्टन की कीमत लगभग 37 लाख रुपये से भी ज्यादा है. बनास कांठा पुलिस अधिकारी ने बताया कि ट्रक मे भरी शराब के साथ उदयपुर का रहने वाला ट्रक चालक शिवलाल और खलासी शंकर भाई को भी गिरफ्तार किया गया.

    गौरतलब है सिरोही जिले के करीब आधा दर्जन पुलिस थानों के सामने से ये ट्रक गुजरा पर पुलिस ने कोई कारवाई नही की. जैसे ही ये ट्रक गुजरात कि सीमा में प्रवेश किया गुजरात पुलिस ने पकड़ा लिया. ऐसे में राजस्थान पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़े होना लाजमी है.

    यह भी पढ़ें- नागौर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, शराब से लदे ट्रक के साथ चालक गिरफ्तार

    ( सिहोर से शरद टाक की रिपोर्ट )

    Tags: Rajasthan news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर