• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • स्मृति शेष: सिद्धार्थ शुक्ला का अध्यात्म से भी था गहरा लगाव, दिल का सुकून पाने आए थे राजस्थान

स्मृति शेष: सिद्धार्थ शुक्ला का अध्यात्म से भी था गहरा लगाव, दिल का सुकून पाने आए थे राजस्थान

सिद्धार्थ शुक्ला ब्रह्माकुमारीज संस्थान के शांतिवन में तीन वर्ष पहले आए थे.

सिद्धार्थ शुक्ला ब्रह्माकुमारीज संस्थान के शांतिवन में तीन वर्ष पहले आए थे.

सुप्रसिद्ध टीवी एक्टर और बिगबाॅस-13 (Big Boss-13) विनर सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) का अध्यात्म से भी गहरा लगाव था. सिद्धार्थ अध्यात्म के लिए माउण्ट आबू आते थे.. उनकी योग में ज्यादा रुचि थी. वे एकांत में रहना पसन्द करते थे.

  • Share this:

    प्रतीक सोलंकी. 

    सिरोही. सुप्रसिद्ध टीवी एक्टर और बिगबाॅस-13 (Big Boss-13) विनर सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) के अचानक निधन से पूरे फिल्म जगत में शोक की लहर है. सिद्धार्थ का अध्यात्म से भी गहरा लगाव था. उनकी मां रीता शुक्ला ब्रह्माकुमारीज संस्थान के साथ लम्बे समय से जुड़ी हुई हैं और राजयोग ध्यान के लिए अधिकतर वे माउंट आबू आया करती थीं. फिल्मी दुनिया का उभरते सितारे सिद्धार्थ शुक्ला अध्यात्म के लिए वे माउण्ट आबू तो आते ही थे, साथ ही वे ब्रह्माकुमारीज संस्थान के मुम्बई के सेवा केन्द्रों पर भी जाया करते थे. उनकी योग में ज्यादा रुचि थी. वे एकांत में रहना पसन्द करते थे.

    ब्रह्माकुमारीज संस्थान प्रमुख राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने शोक संदेश भेजकर दिवंगत आत्मा को शांति के लिए प्रार्थना की है. साथ ही उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है. संंस्थान के पीआरओ बीके कोमल ने बताया कि पहली बार सिद्धार्थ ब्रह्माकुमारीज संस्थान के शांतिवन में तीन वर्ष पहले आए थे. दूसरी बार वे 2018 में एक कार्यक्रम में शिरकत करने आये थे. उनका संस्थान के साथ गहरा नाता था.

    दिल के सुकून, तनाव से मुक्ति के लिए पहुंचे थे

    बताया जा रहा है कि साल 2017 में चार दिन तक सिद्धार्थ शुक्ला सिरोही के आबू रोड स्थित ब्रह्माकुमारीज में ठहरे थे. यहां उन्होंने तनाव से मुक्ति और दिल का सुकून पाने के लिए चार दिन तक राजयोग किया था. सिद्धार्थ ब्रह्मकुमारीज संस्थान के मुंबई के विले पार्ले समेत कई सेवा केंद्रों पर भी जाया करते थे. उनकी योग में ज्यादा रुचि थी. सिद्धार्थ एकांत में रहना पसंद करते. ब्रह्मकुमारीज संस्थान की मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने भी दु:ख जताया है. उन्होंने शोक संदेश में कहा, ‘उनका अचानक से जाना फिल्म इंडस्स्ट्री के लिए बड़ी क्षति है. मैं परमात्मा से प्रार्थना करती हूं कि परमात्मा उनकी आत्मा को शांति दे तथा शोकाकुल परिवार को इस वज्रपात को सहन करने की शक्ति प्रदान करें. पूरा ब्रह्माकुमारीज परिवार उनके साथ है.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज