श्रीगंगानगर में मिले कोरोना स्ट्रेन के संक्रमित 3 मरीज, 18 दिसंबर को ब्रिटेन से लौटे थे भारत

श्रीगंगानगर में ब्रिटेन से लौटे 3 लोग कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित मिले. (सांकेतिक तस्वीर-AP)

श्रीगंगानगर में ब्रिटेन से लौटे 3 लोग कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित मिले. (सांकेतिक तस्वीर-AP)

Corona Strain: श्रीगंगानगर में भी ब्रिटेन से लौटे एक ही परिवार के 3 सदस्य कोरोना के नए स्ट्रेन के संक्रमित मिले हैं. कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित ये सभी लोग 18 दिसम्बर को ब्रिटेन से लौटे थे. इस परिवार के पति-पत्नी और बच्चे में मिला ब्रिटेन का नया स्ट्रेन.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 10:45 PM IST
  • Share this:
श्रीगंगानगर. ब्रिटेन (Britain) में मिले कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्ट्रेन (New Strain) से पीड़ित मरीजों की संख्या देश में धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है. ताजा मामला राजस्थान (Rajasthan) के श्रीगंगानगर (Sriganganagar) का है. यहां भी ब्रिटेन से लौटे एक ही परिवार के 3 सदस्य कोरोना के नए स्ट्रेन के संक्रमित मिले हैं. कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित ये सभी लोग 18 दिसम्बर को ब्रिटेन से लौटे थे. इस परिवार के पति-पत्नी और बच्चे में मिला ब्रिटेन का नया स्ट्रेन. सादुलशहर के हाकमाबाद में ये तीनों संक्रमित रह रहे थे. चिकित्सा विभाग इन तीनों को जिला अस्पताल लेकर आया है. सादुलशहर के हाकमाबाद में चिकित्सा विभाग इनके सैम्पल इकट्ठा कर रहा है.

आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बताया है कि देश में अब 38 लोग वायरस के इस नए स्ट्रेन के शिकार हैं. नए स्ट्रेन का पता चलने के बाद केंद्र सरकार ने ब्रिटेन से हवाई यातायात पर पाबंदियां लगाई हैं. केंद्र की ओर राज्यों को खास एहतियात बरतने को कहा गया है.

Youtube Video


इससे पहले, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने कहा था कि ब्रिटेन में सामने आए कोरोना वायरस के नए प्रकार (स्ट्रेन) का भारत ने सफलतापूर्वक ‘कल्चर’ किया है. ‘कल्चर’ एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके तहत कोशिकाओं को नियंत्रित परिस्थितियों के तहत उगाया जाता है और आमतौर पर उनके प्राकृतिक वातावरण के बाहर ऐसा किया जाता है. आईसीएमआर ने एक ट्वीट में दावा किया कि किसी भी देश ने ब्रिटेन में पाए गए सार्स-कोवि-2 के नए प्रकार को अब तक सफलतापूर्वक पृथक या ‘कल्चर’ नहीं किया है. आईसीएमआर ने कहा कि वायरस के ब्रिटेन में सामने आए नए प्रकार को सभी स्वरूपों के साथ राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान में अब सफलतापूर्वक पृथक और कल्चर कर दिया गया है. इसके लिए नमूने ब्रिटेन से लौटे लोगों से एकत्र किए गए थे.
Youtube Video


उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन ने हाल ही में घोषणा की थी कि वहां लोगों में वायरस का एक नया प्रकार पाया गया है, जो 70 प्रतिशत तक अधिक संक्रामक है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा था कि सार्स-कोवी-2 के इस नए ‘स्ट्रेन’ से भारत में अब तक कुल 38 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. बता दें कि हाल ही में केंद्र सरकार ने कहा था कि 8 जनवरी से ब्रिटेन के साथ हवाई यातायात फिर से शुरू हो जाएगा, हालांकि बढ़ते मामलों के बीच सतर्कता बनाए रखने की जरूरत है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज