लाइव टीवी

राजस्थान: कर्ज से परेशान एक और किसान ने जहर खाकर दी जान, बैंक नोटिस से था परेशान

News18 Rajasthan
Updated: July 4, 2019, 9:14 PM IST
राजस्थान: कर्ज से परेशान एक और किसान ने जहर खाकर दी जान, बैंक नोटिस से था परेशान
श्रीगंगानगर में किसान ने की आत्महत्या। फाइल फोटो

प्रदेश के श्रीगंगानगर जिले में किसान सोहनलाल की आत्महत्या का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि वहां एक और किसान ने कर्ज से तंग आकर मौत को गले लगा लिया है. बताया जा रहा है कि कर्ज में डूबे किसान को बैंक से नोटिस मिला था.

  • Share this:
राजस्थान में किसानों द्वारा आत्महत्या करने का सिलसिला जारी है. प्रदेश के श्रीगंगानगर जिले में किसान सोहनलाल की आत्महत्या का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि वहां एक और किसान ने कर्ज से तंग आकर मौत को गले लगा लिया है. बताया जा रहा है कि कर्ज में डूबे किसान को बैंक से नोटिस मिला था. इससे वह तनाव में आ गया और उसने जहर खाकर अपनी जान दे दी. दूसरी तरफ बैंक प्रबंधन का कहना है कि उसने किसान को कोई नोटिस नहीं दिया.

भाई ने कहा- बैंक के नोटिस से परेशान था
आत्महत्या की घटना श्रीगंगानगर के जैतसर इलाके के रघुनाथपुरा गांव में हुई. वहां किसान नेतराम नाथ हमेशा की तरह बुधवार रात को खेत में जाने की कहकर घर से निकला था. वहां रात को उसने कीटनाशक पीकर जान दे दी. गुरुवार को सुबह जब वह देर तक घर नहीं आया तो परिजन खेत पहुंचे. वहां देखा तो नेतराम चारपाई पर मृत पड़ा हुआ था. मृतक किसान नेतराम के भाई मदनलाल नाथ की मानें तो वह बैंक कर्ज से परेशान था. उसके पास बैंक से नोटिस आया था और फोन भी आ रहा था. इससे वह परेशान था.

बैंक ने कहा अभी कोई नोटिस नहीं दिया था

मृतक किसान का राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक, विजयनगर शाखा में खाता था. किसान पर 3,96,947 रुपए का कर्ज बताया जा रहा है. बैक के प्रबंधक जगरुप सिंह ने बताया कि किसान का खाता 3 फरवरी, 2014 को खुला था. अभी तक बैंक ने उसको कोई नोटिस नहीं दिया है. किसान का खाता रेग्युलर है और न ही वो डिफाल्टर है.

हाल ही में एक किसान की मौत पर मच चुका है बवाल
उल्लेखनीय है कि हाल ही श्रीगंगानगर में ठकरी गांव के निवासी सोहनलाल मेघवाल ने भी आत्महत्या कर ली थी. उसने सुसाइड नोट में अपनी मौत के लिए सीएम अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को जिम्मेदार ठहराया था. किसान ने दो पन्नों के सुसाइड नोट में गहलोत सरकार पर कर्ज माफी का वादा पूरा न करने का आरोप लगाया था.
Loading...

सांसद द्वारा मामला उठाने पर पुलिस ने स्वीकारा
पुलिस ने किसान के सुसाइड नोट की पहले तो पुष्टि नहीं की थी. लेकिन, जब सांसद निहालचंद ने मामला उठाया तो पुलिस ने सुसाइड नोट की बरामदगी स्वीकारी. हालांकि अभी तक पुलिस ने सुसाइड नोट में किसान की राइटिंग की पुष्टि नहीं की है. पुलिस का कहना है कि एक्सपर्ट से हैंडराइटिंग की जांच करवाई जा रही है. यह मामला काफी तूल पकड़े हुए है.

श्रीगंगानगर से अशोक कुमार शर्मा की रिपोर्ट


पंचायत उपचुनाव में कांग्रेस ने बीजेपी को पछाड़ लहराया परचम

कर्ज से परेशान एक और किसान ने लगाया मौत को गले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए श्रीगंगानगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 8:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...