Rajasthan: इंदिरा रसोई में बासी कढ़ी पर मचा बवाल, ग्रामीणों ने जमकर किया हंगामा
Sri-Ganganagar News in Hindi

Rajasthan: इंदिरा रसोई में बासी कढ़ी पर मचा बवाल, ग्रामीणों ने जमकर किया हंगामा
ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय सरपंच कमलेश कुमारी को भी दी.

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार (Gehlot Government) ने पिछले महीने 20 अगस्त को जरूरतमंदों को सस्ता और पौष्टिक भोजन देने की योजना के तहत इंदिरा रसोई (Indira Rasoi Yojana) की शुरुआत की है. पखवाड़े भर में ही भोजन की गुणवत्ता को लेकर उठे सवाल.

  • Share this:
श्रीगंगानगर. कोई भूखा ना सोये के संकल्प के साथ जरूरतमंदों को महज 8 रुपए में पौष्टिक और भरपेट खाना खिलाने की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) की इंदिरा रसोई योजना (Indira Rasoi Yojana) में 15 दिन के भीतर ही शिकायतें आने लग गई हैं. भोजन की गुणवत्ता नियमित चेक करने के दावे के बीच श्रीगंगानगर जिले में रसोई में बासी (Stale) कढ़ी देने पर रविवार को बवाल मच गया. बाद में बड़ी मुश्किल से मामला शांत हो पाया.

लालगढ़ जाटान में रविवार रात को हुई घटना
जानकारी के अनुसार घटना श्रीगंगानगर जिले में हाल ही में क्रमोन्नत हुई लालगढ़ जाटान नगर पालिका क्षेत्र की है. वहां प्रदेश की गहलोत सरकार की ओर से शुरू की गई इंदिरा रसोई में रविवार रात को हंगामा हो गया. बताया जा रहा है कि लालगढ़ में संचालित इस इंदिरा रसोई में जब लोग खाना खाना पहुंचे तो उन्हें संचालक ने सुबह की बनी हुई बासी कढ़ी परोस दी. इस पर ग्रामीणों ने हंगामा खड़ा कर दिया. बाद में अन्य लोगों की समझाइश से मामले का सुलटारा हुआ. ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय सरपंच कमलेश कुमारी को भी दी. इसके साथ ही ग्रामीणों ने कहा कि इंदिरा रसोई के संचालन में हो रही घोर लापरवाही की शिकायत अब जिला प्रशासन के उच्च अधिकारियों तक पहुंचाई जाएगी.

कांग्रेस की राजनीति में भूचाल लाने वाले सचिन पायलट का आज 43वां जन्मदिन, PHOTOS में देखें राजनीतिक सफर
20 अगस्त से शुरू हुई है योजना


उल्लेखनीय है कि जरूरतमंदों को सुबह-शाम दोनों समय सस्ती दर पर भोजन उपलब्ध कराने के लिए गहलोत सरकार ने पिछले महीने 20 अगस्त से यह योजना शुरू की है. इसके तहत प्रदेशभर के 213 शहरों में 358 स्थानों पर इंदिरा रसोई योजना की शुरुआत की गई. योजना के तहत जरूरतमंदों को महज आठ रुपये में पौष्टिक और भरपेट खाना खिलाया जा रहा है. सरकार ने इंदिरा रसोई के भोजन की गुणवत्ता जांचने का भी नियम बनाया है. समय-समय पर जिला स्तरीय समिति को इस खाने की गुणवत्ता की जांच करने की जिम्मेदारी सौंपी गई हैं. लेकिन गुणवत्ता को लेकर अभी से सवाल उठने लगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज