मिनी सचिवालय पर किसानों का प्रदर्शन, पुलिस के साथ हुई तकरार

Ashok sharma | News18 Rajasthan
Updated: June 28, 2019, 6:15 PM IST
मिनी सचिवालय पर किसानों का प्रदर्शन, पुलिस के साथ हुई तकरार
श्रीगंगानगर - रायसिंहनगर मिनी सचिवालय पर किसानों का प्रदर्शन

प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं का कहना है कि मृतक किसान ने अपने सुसाइड नोट में अपनी मौत का जिम्मेदार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट को ठहराया है.

  • Share this:
श्रीगंगानगर में गांव ठाकरी के किसान सोहनलाल द्वारा आत्महत्या करने के मामले को लेकर शुक्रवार को जिले भर के किसानों ने रायसिंहनगर मिनी सचिवालय पर जोरदार प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान उपखंड कार्यालय में प्रवेश करने को लेकर पुलिस व प्रदर्शनकारी किसानों के बीच जमकर तकरार हो गई.

दोनों पक्षों के बीच हुई धक्का-मुक्की के दौरान लाठीचार्ज करने तक की नौबत आ गई. लेकिन पुलिस की संयमता से किसानों और पुलिस के बीच टकराव टल गया. किसान नेताओं ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ही पुलिस पर राज्य सरकार के इशारे पर किसानों को मिनी सचिवालय से बाहर रोके रखने का आरोप लगाया.

सीएम व डिप्टी सीएम पर दर्ज हो मुकदमा
प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं का कहना है कि मृतक किसान ने अपने सुसाइड नोट में अपनी मौत का जिम्मेदार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट को ठहराया है. इसलिए दोनों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए. साथ ही मृतक किसान के परिजनों को 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की भी मांग की गई है.

इसके साथ गहलोत सरकार द्वारा की गई किसानों की संपूर्ण कर्जमाफी की घोषणा को तुरंत लागू करने और प्रदेश में किसानों की जमीन की हो रही कुर्की को बंद करवाए जाने की भी मांग की गई है. किसान नेताओं ने उनकी मांगों पर अमल नहीं किए जाने की सूरत में 2 जुलाई को एक बार फिर से मिनी सचिवालय पर विरोध प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है.

ये भी पढ़ें - किसान ने दी जान, सुसाइड नोट में लिखा गहलोत-पायलट का नाम

ये भी पढ़ें - नशे में धुत युवक ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए श्रीगंगानगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 28, 2019, 4:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...