नहर में पानी के लिए किसानों ने डाला महापड़ाव

नहर में पानी की मांग को लेकर किसानों ने श्रीगंगानगर के महाराजा गंगा सिंह चौक पर महापड़ाव डाल दिया. प्रशासन के साथ तीन दौर की वार्ता के बाद भी कोई हल नहीं निकलने पर किसानों ने यह कदम उठाया.


Updated: May 16, 2018, 7:23 PM IST
नहर में पानी के लिए किसानों ने डाला महापड़ाव
प्रतीकात्मक तस्वीर

Updated: May 16, 2018, 7:23 PM IST
श्री गंगानगर में फसल बिजाई के लिए नहरी पानी की मांग को लेकर बुधवार को किसानों ने महाराजा गंगा सिंह चौक पर महापड़ाव डाला. प्रशासन के साथ किसानों की तीन दौर की हुई वार्ता में भी कोई हल नहीं निकलने पर किसानों ने पड़ाव को लगातार जारी रहने की बात कही है. किसान जहां गंगनहर में 1800 क्यूसेक पानी की मांग कर रहे हैं वहीं प्रशासन 1600 क्यूसेक पानी देने की बात कह रहा है.

गौरतलब है कि इन दिनों श्रीगंगानगर जिले में गंगनहर में महज 1400 क्यूसेक पानी की आपूर्ति हो रही है. इस कारण गंग नहर से जुड़ी अधिकांश छोटी माइनरों में पानी का संकट है. इससे किसानों के लिए कपास, नरमा आदि की बुआई पर विपरीत असर पड़ रहा है. साथ ही साथ किन्नू के बागों को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है. प्रशासन से लगातार 1800 से 2000 क्यूसिक पानी की गुहार करने पर भी कोई असर नहीं होता देख, किसानों ने महाराजा गंगा सिंह पर चौक पर महापड़ाव डाल दिया.

पड़ाव को देखते हुए जिला कलेक्टर ज्ञानाराम व सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता किसान नेताओं की तीन दौर की बातचीत हुई 1400 क्यूसेक पानी से प्रशासन 200 क्यूसेक पानी और बढ़ाने की बात कर रहा है. वही किसान नेता चाहते हैं कि इस पानी को 400 क्यूसेक और बढ़ाया जाए ताकि गंग नहर से जुड़ी सभी नहरों में पानी की आपूर्ति बराबर हो सके और इस से जिले में नरमा कपास की बुवाई अगले 7 दिनों में बेहतर तरीके से हो सके. फिलहाल किसानों ने जिला कलेक्टर कार्यालय के बाहर अपना पड़ाव डाल दिया है और मांगें मानने तक इसे जारी रखने की घोषणा की है .

(रिपोर्ट- राकेश शर्मा मितवा)
पूरी ख़बर पढ़ें
Loading...
अगली ख़बर