श्रीगंगानगर: 4 साल की मासूम को सड़क पर रोते देख जमा हो गई भीड़, जानिए क्या था पूरा माजरा

श्रीगंगानगर में चार साल की मासूम को बच्ची को सड़क पर रोता छोड़ मां लॉकडाउन में करती रही शॉपिंग.

श्रीगंगानगर के घड़साना में वीकेंड लॉकडाउन के दौरान आज एक अजीब नजारा देखने को मिला. एक मांं अपनी चार साल की बच्ची को दुकान के बाहर छोड़कर अंदर खरीददारी करने व्यस्त हो गई और बच्ची इंतजार करते हुए रोने लगी. बाद में तहसीलदार ने बच्ची को संभाला.

  • Share this:


श्रीगंगानगर. श्रीगंगानगर के घड़साना में वीकेंड कर्फ्यू के दौरान आज एक अजीब नजारा देखने को मिला. जहां पर एक मां अपनी चार साल की बच्ची को दुकान के बाहर छोड़ गयी और दुकान के अंदर खरीददारी करने लगी. दुकानदार ने भी दुकान को अंदर से लॉक कर लिया था. इसी बीच वीकेंड कर्फ्यू की पालना करवाने के लिए गश्त पर निकले घड़साना तहसीलदार लूणाराम की नजर जब दुकान के बाहर सड़क पर लावारिस हालत में रोती हुई बच्ची पर पड़ी तो उन्होंने बच्ची से उसके मां-बाप के बारे में पूछा.

रोती हुई बदहवास बच्ची ने तहसीलदार को बताया कि उसकी मां दुकान के अंदर है. तहसीलदार दानाराम लूणा ने कुछ दिन पहले प्यास के कारण एक बच्ची की मौत की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि बच्ची प्यासी थी. इसलिए उसे तुरंत पानी पिलाया गया और संभाला गया. तहसीलदार ने पुलिस जाब्ता बुलवाकर और दुकान के मालिक को बुलवाकर दुकान का ताला खुलवाया तो दुकान के अंदर बच्ची की मां सहित कई महिलाएं खरीददारी करती हुई पाई गई. इस दौरान रोती हुई बच्ची को देखकर आसपास के काफी लोग इकट्ठा हो गए, जिन्हें प्रशासन ने वहां से वापस भेजा.

प्रशासन ने बच्ची को लावारिस हालत में दुकान के बाहर छोड़ देने पर उसकी मां को भी जमकर लताड़ लगाई गई. साथ ही घड़साना तहसीलदार लूणाराम ने कोरोना गाइड लाइन के उल्लंघन करने पर दुकान को 72 घंटे के लिए तीज करते हुए दुकानदार से ₹10 हजार रुपये का जुर्माना भी वसूला. साथ ही उसे चेतावनी भी दी गयी कि यदि भविष्य में दोबारा कोरोना गाइडलाइन की अवहेलना की गई तो आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला भी दर्ज किया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.