Sriganganagar: बॉर्डर पार कर तारबंदी के पास पहुंचा पाकिस्तानी युवक, BSF ने तानी बंदूकें, जानिये क्या है पूरा मामला
Sri-Ganganagar News in Hindi

Sriganganagar: बॉर्डर पार कर तारबंदी के पास पहुंचा पाकिस्तानी युवक, BSF ने तानी बंदूकें, जानिये क्या है पूरा मामला
देर शाम पाक रेंजर्स और बीएसएफ अधिकारियों में आदिल हुसैन की वापसी को लेकर मीटिंग हुई.

भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर (India-Pakistan International border) पर बीएसएफ (BSF) के जवानों ने एक पाकिस्तानी युवक (Pakistani youth) को पकड़ा है. बीएसएफ ने पूछताछ के बाद उसे पाकिस्तान को सौंप दिया.

  • Share this:
श्रीगंगानगर. राजस्थान (Rajasthan) में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर (India-Pakistan International border) पर सीमावर्ती श्रीगंगानगर जिले में रायसिंहनगर सेक्टर में सीमा सुरक्षा बल की बांडा पोस्ट पर एक पाकिस्तानी युवक (Pakistani youth) जीरो लाइन पार कर तारबंदी तक आ गया. बीएसएफ के जवानों (BSF) ने मुस्तैदी दिखाते हुये उसे वहीं पर पकड़ लिया. बाद में पूछताछ कर कुछ भी संदिग्ध नहीं लगने पर उसे पाक रेंजर्स (Pak Rangers) को सौंप दिया गया.

तारबंदी के नजदीक आ गया था
सूत्रों के मुताबिक मंगलवार सुबह लगभग 8 बजे एक संदिग्ध युवक सीमा पर पिल्लर नंबर 358 के पास जीरो लाइन पार कर तारबंदी के नजदीक आ रहा था. उसे देखकर बीएसएफ के जवान मुस्तैद हो गए. युवक जब बिल्कुल तारबंदी के नजदीक आ गया तो जवानों ने बंदूकें तान दी और वहीं रुक जाने के लिए कहा. इस पर युवक वहीं रुक गया. उसे बाद में तारबंदी का गेट खोलकर बांडा पोस्ट पर लाया गया. पूछताछ में युवक ने अपना नाम आदिल हुसैन (22) बताया. वह पाकिस्तान के बहावलनगर जिले के हारूनाबाद के चक 127-एल का रहने वाला है.

Rajasthan: अब विश्व पटल पर और छायेगा उदयपुर, 'फिल्मसिटी' होगा नया टूरिस्ट डेस्टिनेशन
सुरक्षा एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे


इसकी सूचना पर श्रीगंगानगर के बीएसएफ सेक्टर हेड क्वार्टर से वरिष्ठ अधिकारियों समेत अन्य खुफिया एजेंसियों के अधिकारी और अनूपगढ़ डीएसपी रामेश्वरलाल तथा थानाप्रभारी रामूराम मौके पर पहुंचे. युवक से दिनभर पूछताछ चलती रही. उसके पास कोई संदिग्ध सामान नहीं मिला. सुरक्षा एजेंसियों को वह संदिग्ध भी नहीं लगा. आदिल की बहन सरहद के नजदीक एक गांव में ब्याही है. वह बहन से मिलने के लिए आया हुआ था. उसे लगा कि अंतरराष्ट्रीय सीमा तारबंदी से शुरू होती है जबकि तारबंदी जीरो लाइन से 150 गज पीछे है. वह जीरो लाइन को पार कर बॉर्डर देखने के लिए तारबंदी पर आ गया था.

Rajasthan: IPS अजयपाल लांबा की 'गनिंग फॉर द गॉडमैन' किताब करेगी आसाराम के कबूलनामे का पूरा खुलासा

परिजन उसे लेने के लिये दिनभर बॉर्डर पर बैठे रहे
देर शाम को सरहद पार से पाक रेंजर्स पोस्ट की तरफ से फ्लैग मीटिंग का इशारा मिला. उसके बाद पाक रेंजर्स और बीएसएफ अधिकारियों में आदिल हुसैन की वापसी को लेकर मीटिंग हुई. आदिल को किसी भी प्रकार का संदिग्ध नहीं मानते हुए बीएसएफ ने उसे वापस करने को सहमति जताई. इसके कुछ देर बाद पाक रेंजर्स जीरो लाइन पर आए तो आदिल उनके सुपुर्द कर दिया गया. आदिल को लेने से पहले पाक रेंजर्स ने उसके घर परिवार के बारे में पूरी तरह से पड़ताल की. उसके परिवार वाले उसे लेने के लिए पाक रेंजर्स की पोस्ट पर दोपहर से ही आए बैठे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज