होम /न्यूज /राजस्थान /Sri Ganganagar: उच्च शिक्षा से महरूम हैं यहां के बच्चे, गांवों से उठी मांग

Sri Ganganagar: उच्च शिक्षा से महरूम हैं यहां के बच्चे, गांवों से उठी मांग

अभिभावकों के अनुसार उप-तहसील क्षेत्र के करीब 70 किलोमीटर के दायरे में सभी गांवों से निकलने वाले बच्चों के लिए उच्च शिक् ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट- प्रदीप कुमार

    श्रीगंगानगर. एक तरफ राज्य सरकार जहां शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए करोड़ों रूपये खर्च कर रही है और बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है वहीं, श्री गंगानगर जिले का एक इलाका ऐसा भी है जहां बच्चियां 12वीं के बाद अपनी उच्च शिक्षा पूरी नहीं कर पाती हैं. कारण यहां महाविद्यालय का न होना और ग्रामीण इलाकों में परिवहन सहित अन्य व्यवस्थाएं नहीं होना है.

    श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ उपखण्ड की राजियासर उप-तहसील को बने हुए करीब 10 वर्ष हो चुके हैं, लेकिन यहां आज तक महाविद्यालय का निर्माण नहीं हो पाया है.जिसके कारण आसपास के सैकड़ों गावों के हर वर्ष करीब 5 हजार से 6 हजार बच्चे 12वीं कक्षा तक तो पढ़ते हैं, लेकिन इनमे से हर वर्ष करीब 1 हजार से भी कम बच्चे अपनी आगे की उच्च शिक्षा पाने बाहर जा पाते हैं. ऐसे में अधिकांश बच्चों को पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ती है.

    अभिभावकों के अनुसार उप-तहसील क्षेत्र के करीब 70 किलोमीटर के दायरे में सभी गांवों से निकलने वाले बच्चों के लिए उच्च शिक्षा पाने के लिए महाविद्यालय नहीं होने के कारण इलाके के बच्चे शिक्षा के क्षेत्र में काफी पिछड़ गए हैं.

    न्यूज 18 लोकल की टीम ने जब उपतहसील क्षेत्र में पहुंचकर अभिभावकों से बात की तो अभिभावकों ने बताया कि महाविद्यालय नहीं होने के कारण हमारे मेधावी बच्चों को पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ रही है. ऐसी स्थिति में कुछ तो बच्चों को अपनी पढ़ाई अपने स्तर पर करने के लिए बाहर भेज रहे हैं, लेकिन ग्रामीण अंचल के अधिकांश परिवार आर्थिक रूप कमजोर होने के कारण बच्चों की पढ़ाई बीच में ही छूट जाती है.

    वहीं बच्चों का कहना है कि हमारे लिए यहां सरकारी महाविद्यालय का निर्माण होना चाहिए. हमें पढ़ना है और आगे बढ़ना है. महाविद्यालय निर्माण की मांग को लेकर टीबा बेल्ट की बच्चियों का कहना है कि राज्य सरकार हमारे उपतहसील राजियासर में अगले सत्र में महाविद्यालय की निर्माण की मांग को पूरा करे, ताकि हम आगे की पढ़ाई जारी रख सके व हमारी उच्च शिक्षा में किसी तरह का व्यवधान न पैदा हो.

    Tags: Rajasthan news in hindi, Sri ganganagar news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें