Sriganganagar News: पाकिस्तानी महिला मजदूर ने बस में दिया बच्चे को जन्म, दोनों जिला अस्पताल में भर्ती

बच्चे को फिलहाल एसएनसीयू वार्ड में रखा गया है. वहीं  महिमा को मेटरनिटी वार्ड में एडमिट कराया गया है.

बच्चे को फिलहाल एसएनसीयू वार्ड में रखा गया है. वहीं महिमा को मेटरनिटी वार्ड में एडमिट कराया गया है.

श्रीगंगानगर में एक पाकिस्तानी महिला मजदूर (Pakistani woman labor) ने बस में बच्चे को जन्म दिया है. महिला और नवजात को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहां दोनों स्वस्थ बताये जा रहे हैं.

  • Share this:
श्रीगंगानगर. एक पाकिस्तानी महिला मजदूर (Pakistani woman labor) ने श्रीगंगानगर में बच्चे को जन्म दिया है. महिला के प्रसव (Delivery) गुजरात से वाघा बोर्डर जाते समय बस में हुआ. चिकित्सकों के अनुसार जच्चा-बच्चा दोनों स्वास्थ्य हैं. फिलहाल जच्चा और बच्चा दोनों की श्रीगंगानगर जिला अस्पताल में देखरेख की जा रही है. नवजात के पिता ने श्रीगंगानगर में मिली चिकित्सीय सुविधाओं को बेहतर बताया है. अब पासपोर्ट सहित अन्य कानूनी कार्रवाई के बाद दोनों को पाकिस्तान के लिए रवाना किया जायेगा.

जानकारी के अनुसार प्रदेश के सीमावर्ती जिले श्रीगंगानगर में बुधवार देर रात गुजरात से पाकिस्तान लौट रही मजदूरों की बस में एक महिला मजदूर ने बच्चे को जन्म दिया. बस में पाकिस्तानी महिला मजदूर के द्वारा बच्चे को जन्म देने की सूचना पर एम्बुलेंस को मौके पर बुलाया गया. वहां से एम्बुलेंस से जच्चा और बच्चा दोनों को जिला अस्पताल लाया गया और चिकित्सकों की निगरानी में रखा गया.

जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं

श्रीगंगानगर जिला अस्पताल के पीएमओ डॉ. बलदेव सिंह ने बताया कि जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं. बच्चे को फिलहाल एसएनसीयू वार्ड में रखा गया है. वहीं महिमा को मेटरनिटी वार्ड में एडमिट कराया गया है. पाकिस्तान की महिला मजदूर रामादेवी द्वारा बच्चे को जन्म देने के बाद उसका पति और दो बच्चे श्रीगंगानगर में ठहर गए हैं. बाकी सभी मजदूर वाघा बॉर्डर के लिए रवाना हो गये.
सभी सुविधाएं बेहतर तरीके से मिली

नवजात के पिता जयराम के अनुसार उसकी पत्नी और नवजात बच्चा बिल्कुल स्वस्थ हैं. जिला अस्पताल से बच्चे का जन्म सर्टिफिकेट बनने के बाद दिल्ली एम्बेसी में पासपोर्ट के लिए अप्लाई करेंगे और उसके बाद में पाकिस्तान के लिए रवाना होंगे. उधर जिला अस्पताल के अधिकारियों ने पुलिस और उच्च अधिकारियों को इसकी सूचना दे दी है. जयराम ने बताया कि जिला अस्पताल में डॉक्टर्स और अन्य स्टाफ ने उनके साथ काफी अच्छा व्यवहार किया और उनको सभी सुविधाएं बेहतर तरीके से मिली.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज