अपना शहर चुनें

States

श्रीगंगानगर: हाड़ कंपकंपाती ठंड ने जीना किया मुश्किल, मौसम विभाग ने जारी किया Alert

श्रीगंगानगर में ठंड ने जीना मुश्किल कर दिया है. (प्रतिकात्मक फोटो)
श्रीगंगानगर में ठंड ने जीना मुश्किल कर दिया है. (प्रतिकात्मक फोटो)

Weather Update: मौसम विभाग के मुताबिक, गंगानगर में शीत लहर चल रही है. इसके कारण अगले कुछ दिनों तक समूचे इलाके में हाड़ कंपकंपाती ठंड बरकरार रहेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2021, 9:51 AM IST
  • Share this:
श्रीगंगानगर. श्रीगंगानगर में सर्द मौसम अपने चरम पर पहुंच गया है. यहां ठंड के तीखे तेवर बरकरार हैं. पूरे जिले में घना कोहरा छाया हुआ है. इस वजह से विजिबिलिटी जबर्दस्त घट गई है और वाहनों की रफ्तार थम गई है. मौसम विभाग ने यहां यलो अलर्ट जारी किया था. मौसम विभाग के मुताबिक, गंगानगर में शीत लहर चल रही है. इसके कारण समूचे इलाके में हाड़ कंपकंपाती ठंड बरकरार रहेगी.

उत्तर भारत में फिलहाल ठंढ से राहत मिलने के आसार नहीं दिख रहे हैं. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक उत्तर-पश्चिमी हवाओं के चलते तापमान में 2-4 डिग्री सेल्सियस की और गिरावट आ सकती है. पहाड़ों पर बर्फबारी थोड़ी कम हो गई है, लेकिन मैदानी इलाकों में शीतलहर का प्रकोप लगातार जारी है. दिल्ली में पिछले कई दिनों से लगातार तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है. उधर दक्षिण भारत में उत्तर-पूर्व मॉनसून के चलते कई राज्यों में अगले 3-4 दिनों का बारिश की आशंका है.

देश के बाकी हिस्सों का हाल
बिहार और उत्तर प्रदेश में ठंड से जनजीवन बेहाल है. मौसम विभाग के मुताबिक 16 से 20 जनवरी तक ठंड का सितम यहां जारी रहेगा. पूसा मौसम विभाग के मुताबिक 16 से 20 जनवरी तक बिहाल के कई इलाकों में शीतलहर की स्थिति बनी रहेगी. पूर्वानुमान के मुताबिक अगले पांच दिनों तक न्यूनतम तापमान छह से आठ डिग्री और अधिकतम तापमान 16 से 18 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है.
कोहरा और बारिश होने की संभावना


उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम और त्रिपुरा में लोग घने कोहरे से परेशान हैं. मौसम विभाग का कहना है कि इन इलाकों में अगले 3-4 दिनों तक कोहरा बढ़ सकता है. अगले 2 दिनों के दौरान तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल, केरल और माहे और लक्षद्वीप क्षेत्र में गरज और बिजली के साथ बहुत व्यापक वर्षा होने की संभावना है और इसके बाद वर्षा की गतिविधियों में कमी आएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज