असंतुलित बाल लिंग अनुपात में सुधार के लिए श्रीगंगानगर में हुआ सेमिनार

बालिकाओं की गरिमा बढ़ाने और असंतुलित बाल लिंग अनुपात के कारणों और इसे सुधार के उपायों पर चर्चा करने के लिए श्रीगंगानगर में सेमिनार का आयोजन किया गया.

ETV Rajasthan
Updated: December 27, 2017, 7:24 PM IST
असंतुलित बाल लिंग अनुपात में सुधार के लिए श्रीगंगानगर में हुआ सेमिनार
श्रीगंगानगर में आयोजित सेमिनार में हुई गहन चर्चा फोटो- ईटीवी
ETV Rajasthan
Updated: December 27, 2017, 7:24 PM IST
बालिकाओं की गरिमा बढ़ाने और असंतुलित बाल लिंग अनुपात के कारणों और इसे सुधार के उपायों पर चर्चा करने के लिए श्रीगंगानगर में सेमिनार का आयोजन किया गया. उरमूल सेतु संस्थान द्वारा आयोजित इस सेमिनार में शहर के चिकित्सा, जिला प्रशासन और पीसीपीएनडीटी सेल और विभिन्न स्वयंसेवी संगठनों ने भी हिस्सेदारी की. सेमिनार में यह तथ्य सामने आया कि 2011 की जनगणना में 1000 लड़कों पर लड़कियों का अनुपात मात्र 919 है यह वास्तव में एक गंभीर चिंता का विषय है. राजस्थान का बाल लिंगानुपात 21 अंकों की गिरावट के साथ प्रति हजार पर 888 था हालांकि सामूहिक प्रयासों से इस लिंगानुपात की गिरावट में अब सुधार आ रहा है. इस दिशा में अनेक संस्थाएं काम कर रही हैं जिनके जरिए ग्रामीण क्षेत्रों में भी बाल लिंग अनुपात को बढ़ावा देने के लिए व कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए जागरुकता बढ़ी है.

सेमिनार में बालिकाओं के महत्व, बालिकाओं की गरिमा और असंतुलित होते बाल लिंग अनुपात के कारणों और इसके रोकथाम के उपायों पर सार्थक संवाद तो हुआ ही, साथ ही आपसी समन्वय पर चर्चा करते हुए आगामी रणनीति बनाते हुए कार्य करने पर जोर दिया गया. जिसमें सरकारी अधिकारियों स्वयंसेवी संस्थाओं और मीडिया के साथ समन्वय स्थापित कर काम करने की जरूरत पर बल दिया गया.

उरमूल सेतु संस्थान के साथ-साथ प्लान इंडिया व यूरोपियन कमीशन के सहयोग से संचालित गर्व परियोजना का संचालन श्री गंगानगर और बीकानेर जिले में भी किया जा रहा है, इनके प्रयासों से गंगानगर जिले में बालिकाओं का लिंगानुपात काफी बड़ा है, यह संतोष की बात है.

सेमिनार में जिला परिषद के सीईओ विश्राम मीणा ने विभिन्न आंकड़ों के जरिए जनसंख्या के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करते हुए बालिकाओं की संख्या को लेकर चिंता जताई और साथ ही कन्या भ्रूण हत्या को रोकने की दिशा में जागरूकता बढ़ाने के लिए भी निवेदन किया गया.

(रिपोर्ट- राकेश शर्मा मितवा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए श्रीगंगानगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 27, 2017, 7:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...