लाइव टीवी

श्रीगंगानगर: कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या, परिजनों ने शव लेने से किया इनकार
Sri-Ganganagar News in Hindi

Ashok Kumar Sharma | News18 Rajasthan
Updated: February 17, 2020, 5:28 PM IST
श्रीगंगानगर: कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या, परिजनों ने शव लेने से किया इनकार
छापावाली गांव के किसान महेन्द्र वर्मा (35) ने गत 12 फरवरी को स्प्रे (कीटनाशक) का पी लिया था. रविवार को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. प्रतीकात्मक तस्वीर

श्रीगंगानगर जिले में एक किसान (Farmer) ने कर्ज (Loan) के चलते कीटनाशक पीकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. मृतक के परिजनों और अन्य किसानों ने अपनी मांगों को लेकर शव लेने से इंकार (Refuse) कर दिया है. वे जिला अस्पताल में धरने पर बैठे हुए हैं.

  • Share this:
श्रीगंगानगर. जिले में एक किसान (Farmer) ने कर्ज (Loan) के चलते कीटनाशक पीकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. मृतक के परिजनों और अन्य किसानों ने अपनी मांगों को लेकर शव लेने से इंकार (Refuse) कर दिया है. वे जिला अस्पताल में धरने पर बैठे हुए हैं. पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी किसानों के साथ वार्ता (Talk) कर रहे हैं, लेकिन अभी तक उसका कोई सकारात्मक हल नहीं निकला है.

गत 12 फरवरी को स्प्रे पी लिया था
जानकारी के अनुसार सादुलशहर पंचायत समिति के छापावाली गांव के किसान महेन्द्र वर्मा (35) ने गत 12 फरवरी को स्प्रे (कीटनाशक) का पी लिया था. इससे उसकी तबीयत खराब हो गई. बाद में उसे इलाज के लिए श्रीगंगानगर में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहां महेन्द्र की तबीयत खराब होने पर उसे बीकानेर रेफर कर दिया गया था. लेकिन परिजन उसे बीकानेर ले जाने की बजाय श्रीगंगानगर में निजी अस्पताल में ले गए थे. वहां रविवार शाम को उसकी मौत हो गई. इस पर परिजन शव को लेकर वापस जिला अस्पताल आ गए.

संपूर्ण कर्जमाफी की मांग



यहां किसान की मौत की सूचना पर बड़ी संख्या में किसान और माकपा नेता भी जिला अस्पताल पहुंच गए. वहां परिजनों और किसानों ने धरना शुरू कर दिया. बाद माकपा नेताओं ने कहा कि जब तक मृतक किसान के संपूर्ण कर्ज माफी नहीं हो जाती और परिजनों को आर्थिक सहायता तथा जमीन की कुर्की नहीं होने का ठोस आश्वासन प्रशासन द्वारा नही मिल जाता तब तक शव नहीं लेंगे. सूचना पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वो अपनी मांगों पर अड़े हैं. किसान का शव जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखा हुआ है और ग्रामीण धरने पर बैठे हैं.

दिसंबर में दिया गया था नोटिस
सादुलशहर उपखंड अधिकारी हवाई सिंह ने बताया कि मृतक किसान ने 2016 में एसबीआई बैंक से साढ़े पांच लाख रुपए का लोन लिया था. इन दिनों बैंक प्रबंधन द्वारा किसान को कोई नोटिस जारी नहीं किया गया है. पूर्व में दिसंबर में एक नोटिस दिया गया था. बताया जा रहा है कि लोन पर ब्याज लगकर वह काफी बढ़ गया. वहीं सासंद निहालचन्द मेघवाल ने इस मामले को लेकर गहलोत सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने संपूर्ण कर्जमाफी का झूठा वादा कर सत्ता हासिल की है. प्रदेशभर में किसान कर्ज के बोझ के तले दबा हुआ है और आत्महत्या करने को मजबूर हैं.

 

 

अलवर: पालतू कुत्ते के भौंकने पर हुआ झगड़ा, युवक ने पड़ोसी को चाकू से काट डाला

 

ACB की कार्रवाई से हिल उठा परिवहन विभाग, जद में आए ये अधिकारी रहे हैं चर्चित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए श्रीगंगानगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2020, 5:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,709

     
  • कुल केस

    6,412

     
  • ठीक हुए

    503

     
  • मृत्यु

    199

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 10 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,685

     
  • कुल केस

    1,604,072

    +788
  • ठीक हुए

    356,656

     
  • मृत्यु

    95,731

    +38
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर