लाइव टीवी

श्रीगंगानगर: सरकारी स्कूल में बने पानी के टैंक की छत ढही, आधा दर्जन छात्र-छात्राएं घायल

Ashok Kumar Sharma | News18 Rajasthan
Updated: December 13, 2019, 3:34 PM IST
श्रीगंगानगर: सरकारी स्कूल में बने पानी के टैंक की छत ढही, आधा दर्जन छात्र-छात्राएं घायल
हादसा सार्दुलशहर के गांव श्यामसिंह वाला में हुआ.

श्रीगंगानगर (Shri Ganganagar) जिले के सार्दुलशहर (Sardulshahar) इलाके में शुक्रवार को बड़ा हादसा (Big accident) हो गया. यहां एक सरकारी स्कूल में पानी के टैंक (Water tanks) की छत भरभराकर ढह (Collapsed) गई, जिससे उसके ऊपर बैठे बच्चे टैंक के अंदर जा गिरे.

  • Share this:
श्रीगंगानगर. जिले के सार्दुलशहर (Sardulshahar) इलाके में शुक्रवार को बड़ा हादसा (Big accident) हो गया. यहां एक सरकारी स्कूल में पानी के टैंक (Water tanks) की छत भरभराकर ढह (Collapsed) गई, जिससे उसके ऊपर बैठे बच्चे टैंक के अंदर जा गिरे. गनीमत रही की टैंक गहरा नहीं होने और खाली होने के कारण घटना में जान माल का नुकसान नहीं हुआ. हादसे में आधा दर्जन बच्चे घायल (Injured) हो गए. उन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, वहां से दो बच्चों को श्रीगंगानगर रेफर कर दिया गया, जबकि अन्य को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई.

गांव श्यामसिंह वाला में हुआ हादसा
जानकारी के अनुसार हादसा सार्दुलशहर के गांव श्यामसिंह वाला में हुआ. गांव में स्थित सरकारी मिडिल स्कूल में सुबह कुछ बच्चे वहां बने पानी के अंडरग्राउंड टैंक की छत पर खड़े होकर धूप सेक रहे थे. टैंक काफी पुराना होने के कारण जीर्णशीर्ण हालत में था. वह काफी समय से खाली पड़ा था. इसी दौरान बच्चों के वजन से टैंक की छत भरभराकर ढह गई. इससे उसके ऊपर खड़े पांच छात्र-छात्राएं उसमें गिर गए. हादसा होते ही स्कूल में हड़कंप मच गया.

दो बच्चे श्रीगंगानगर रेफर

सूचना पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे और टैंक में गिरे छात्र-छात्राओं को तत्काल बाहर निकालकर उन्हें स्थानीय अस्पताल पहुंचाया. वहां तीन बच्चों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई, वहीं दो के चोटें ज्यादा होने के कारण उन्हें श्रीगंगानगर रेफर दिया गया. श्रीगंगानगर के एक निजी अस्पताल में घायल बच्चों का इलाज चल रहा है. उनकी हालत अब ठीक बताई जा रही है.

स्कूल प्रबंधन की लापरवाही आई सामने
हादसे में स्कूल प्रबंधन की लापरवाही सामने आई हैं. टैंक जर्जर होने के बावजूद ना तो उसकी मरम्मत कराई गई और ना ही बच्चों को उस पर खड़े होने से रोका गया. सूचना पर बाद में शिक्षा विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया.नागौर बना कश्मीर: जबर्दस्त ओलावृष्टि, ओलों की चादर बिछी, पारा गिरा, ठंडक बढ़ी

अलवर: परीक्षा देने नहीं गया तो पिता ने डांटा, नाराज नाबालिग बेटे ने लगाई फांसी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए श्रीगंगानगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 3:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर