35 करोड़ का गबन: आरोपी टीचर ने खुलवाए थे 24 बैंकों में 510 खाते

श्रीगंगानगर में शिक्षा विभाग में करोड़ों रुपए का गबन करने के आरोपी शारीरिक शिक्षक ओमप्रकाश शर्मा से हो रही पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है. आरोपी ने गबन की गई राशि को ठिकाने लगाने के लिए 24 बैंकों में 510 खाते खुलवाए थे.

Ashok Kumar Sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 9, 2019, 11:38 AM IST
35 करोड़ का गबन: आरोपी टीचर ने खुलवाए थे 24 बैंकों में 510 खाते
आरोपी शारीरिक शिक्षक ओमप्रकाश शर्मा। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Ashok Kumar Sharma
Ashok Kumar Sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 9, 2019, 11:38 AM IST
श्रीगंगानगर में शिक्षा विभाग में करोड़ों रुपए का गबन करने के आरोपी शारीरिक शिक्षक ओमप्रकाश शर्मा से हो रही पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है. आरोपी ने गबन की गई राशि को ठिकाने लगाने के लिए 24 बैंकों में 510 खाते खुलवाए थे. उसने गबन की राशि से क्रिकेट पर सट्टा भी लगाया था.

नित नए खुलासे हो रहे हैं
जानकारी के अनुसार आरोपी शिक्षक ओमप्रकाश शर्मा से हो रही पूछताछ में नित नए खुलासे हो रहे हैं. महाघोटाले की इस जांच में अब गबन की राशि का आंकड़ा भी 35 करोड़ से बढ़कर 38 करोड़ रुपए हो गया है. आरोपी ने इस राशि को ठिकाने लगाने के लिए 24 बैंकों में अपने रिश्तेदारों और परिचितों के नाम से 510 खाते खुलवाए थे. उससे इस राशि से क्रिकेट और पर्ची पर सट्टा भी लगाया था. उसके बाद पुलिस ने जांच-पड़ताल कर दो सटोरियों को भी गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए सटोरियों के खाते में 80 से 90 लाख रुपए डाले गए थे.

खुद को तीन बार सेवानिवृत्त कर दिया

इस महाघोटाले को अंजाम देने वाली शातिर टीचर ओमप्रकाश ने खुद की तीन बार सेवानिवृत्ति दिखाकर उपार्जित अवकाश (अर्न्‍ड लीव या ईएल) का पैसा उठाया. आरोपी शिक्षक 13 अगस्त तक पुलिस रिमांड पर है. उससे गहन पूछताछ की जा रही है.

172 फर्जी कर्मचारियों की फर्जी सेवानिवृत्ति
उल्लेखनीय है कि आरोपी ओमप्रकाश शर्मा मूलतया श्रीगंगानगर में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय नंबर-7 में पीटीआई के पद पर नियुक्त है. लेकिन, वह पिछले कई वर्षों से मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में डेपुटेशन (प्रतिनियुक्ति) पर बाबूगिरी का कार्य रहा है. ब्लॉक शिक्षा अधिकारी हंसराज के अनुसार शारीरिक शिक्षक ओमप्रकाश शर्मा ने पिछले चार वर्षों में 172 फर्जी कर्मचारियों की फर्जी सेवानिवृत्ति दिखाकर उपार्जित अवकाश (अर्न्‍ड लीव या ईएल) के मद में अपने रिश्तेदारों और परिचितों के खाते में 35 करोड़ रुपए ट्रांसफर कर इस महाघोटाले को अंजाम दिया है.
Loading...

टीचर ने ही कर डाला 35 करोड़ रुपये का महाघोटाला!

35 करोड़ के गबन के आरोपी टीचर ने कोर्ट में किया सरेंडर
First published: August 9, 2019, 11:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...