लाइव टीवी

हवा का रुख बदला, पाकिस्तान की ओर लौट रहे टिड्‌डी दल!
Sri-Ganganagar News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: January 17, 2020, 6:45 PM IST
हवा का रुख बदला, पाकिस्तान की ओर लौट रहे टिड्‌डी दल!
टिड्डी दलों (swarms of locusts) का मूवमेंट भी पाकिस्तान की तरफ हो गया.

श्रीगंगानगर में मौसम पलटते ही हवा का रख (change in wind direction) पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ हो गया और टिड्डी दलों (swarms of locusts) का मूवमेंट भी पाकिस्तान की तरफ हो गया.

  • Share this:
श्रीगंगानगर. कृषि विभाग द्वारा राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में टिड्डी नियंत्रण अॉपरेशन जारी है और इसी बीच जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों में पिछले 10 दिनों से पाकिस्तान से लगातार हो रहे टिड्डी मूवमेंट से परेशान किसान और कृषि विभाग के लिए शुक्रवार को राहत भरी खबर आई हैं. दरअसल, आज मौसम पलटते ही हवा का रख (change in wind direction) पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ हो गया और टिड्डी दलों (swarms of locusts) का मूवमेंट भी अचानक पाकिस्तान की तरफ हो गया. टिड्डी दलों का हवा के रुख के साथ-साथ पाकिस्तान की तरफ जाने का मूवमेंट लगातार जारी हैं.

प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी दलों के खात्मे में आएगी तेजी

कृषि विभाग के अधिकारियों का मानना हैं कि टिड्डियों के पाकिस्तान की तरफ जाने से श्रीगंगानगर जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों में किसानों के साथ-साथ टिड्डी नियंत्रण दल और कृषि विभाग के कार्मिकों को थोड़ी राहत मिल सकेगी. प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी दलों के खात्मे में मदद मिलेगी.

टिड्डी नियंत्रण दवा का स्प्रे जारी

कृषि विभाग, टिड्डी नियंत्रण दल और स्थानीय किसान टिड्डियों पर काबू पाने के लिए लगातार जुटे हुए हैं, प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी नियंत्रण दवा का स्प्रे जारी है. कृषि विभाग के अधिकारियों ने किसानों से अपील की है कि वे टिड्डी नियंत्रण दल का सहयोग करें और अफवाहों पर ध्यान न दें. श्रीगंगानगर जिले में टिड्डी दलों के हमले से बहुत ज्यादा नुकसान नहीं हुआ हैं और जिन किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा है उनकी विशेष गिरदावरी करवा कर राज्य सरकार द्वारा जल्द ही राहत प्रदान की जाएंगी.

ये भी पढ़ें-गहलोत सरकार ने पाकिस्तानी विस्थापित शरणार्थियों को 50% रियायत पर दी जमीन

LIVE पंचायत चुनाव: कड़ाके की सर्दी में 12 बजे तक हुआ 27.66% मतदान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए श्रीगंगानगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 6:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर