थाने के सामने की चार दुकानों का ताला तोड़कर लाखों का सामान ले उड़े चोर, पुलिस को नहीं लगी भनक

थाने के सामने चोरों ने चार दुकानों का ताला तोड़कर चोरी की और फरार हो गये.
थाने के सामने चोरों ने चार दुकानों का ताला तोड़कर चोरी की और फरार हो गये.

शहर के हनुमानगढ़ (Hanumangarh) थाने के ठीक सामने चोरों (Thieves) ने चार दुकानों का ताला तोड़ दिया और लाखों का माल लेकर फरार हो गये. वहीं पुलिस (Police) के द्वारा मामला न दर्ज करने पर व्यापारियों ने नाराजगी जताई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 3:36 PM IST
  • Share this:
हनुमानगढ़. जिले में बढ़ते अपराधों (Crime) के बीच बीती रात चोरों ने पुलिस (Police) को ही चुनौती दे डाली और हनुमानगढ़ (Hanumangarh) टाऊन थाने के ठीक सामने चार दुकानों पर चोरी करके फरार हो गये. थाना दुकानों के सामने है ऐसे में भी पुलिस को चोरी की भनक तक नहीं लगी. वहीं दूसरी और चोरों के हौंसले को देखिए जब थाने के सामने चोर दुकानों का ताला तोड़कर चोरी कर सकते हैं, तो शहर के किसी जगह में चोरी की वारदात को अंजान देने में कितना सोचते होंगे.

हनुमानगढ़ शहर की सुरक्षा का दावा करने वाली पुलिस के नाक के नीचे चोरी हो जाती है और पुलिस को पता तक नहीं चलता. चोरी की वारदात के बाद जब दुकानदार टाऊन थाने में मुकदमा दर्ज करवाने पहुंचे तो मुकदमा दर्ज करने की बजाय टाउन थाने के कार्यवाहक थानाधिकारी कैलाश मीणा ने दुकानदारों को ये मौके से भगा दिया. इसके बाद व्यापारी खुद सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखकर आपराधियों को पकड़ने का प्रयास कर रहे हैं.

दुकानदारों के अनुसार उनकी सब्जी की दुकानें टाऊन थाना के सामने हैं. दुकानों से चोरों ने करीब 40 हजार रुपये और अन्य सामान चोरी कर लिया. उनका आरोप है कि पुलिस मुकदमा दर्ज करने की बजाय अपनी ही नाकामी छुपा रही है. हालांकि व्यापारियों के आक्रोश के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली, जबकि घटनास्थल थाने के बिल्कुल सामने ही है.



UPSC की तर्ज पर RPSC भर्ती परीक्षाओं का बनेगा कैलेंडर, तय समय पर हो सकेंगी RAS परीक्षाएं
चोरी की वारदात का सीसीटीवी फुटेज भी व्यापारियों ने ही जुटाया है. इसमें दो संदिग्ध दुकानों पर टॉर्च मारते हुए नजर आ रहे हैं. थाने के सामने ही चोरी की वारदात हुई है. व्यापारियों के द्वारा शिकायत करने पर मुकदमा दर्ज ना करने से व्यापारियों और इलाके के लोगों में आक्रोश है. लोगों का कहना है कि थाने के सामने चोरी को पुलिस रोक नहीं पाती है, तो सहयोग और सुरक्षा की गारंटी कैसे ले सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज