तीन निर्दलीय विधायकों पर गहलोत सरकार गिराने का आरोप, ACB ने दर्ज किया केस
Jaipur News in Hindi

तीन निर्दलीय विधायकों पर गहलोत सरकार गिराने का आरोप, ACB ने दर्ज किया केस
राजस्थान में बड़ी कार्रवाई की गई है. (File)

Horse Trading in Rajasthan: सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने शनिवार को बीजेपी (BJP) सरकार पर राज्य की कांग्रेस (Congress) सरकार को गिराने का बड़ा आरोप लगाया. साजिश का आरोप लगाते हुए सीएम गलहोत ने कहा कि विपक्षी दल कांग्रेस के विधायकों को 15 करोड़ रुपये का ऑफर कर रही है.

  • Share this:
जयपुर.  राजस्थान (Rajasthan) में खरीद फरोख्त (Horse Trading) की सियासी उठा पटक के बीच एक बड़ी कार्रवाई की गई है. गहलोत सरकार को गिराने के लिए विधायकों को प्रलोभन देने के आरोप में एसीबी (Anti-Corruption Bureau) ने सुरेश टाक सहित ओम प्रकाश हुड़ला और सुखबीर सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. मालूम हो कि जिन तीन निर्दलीय विधायकों को अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार का सबसे पक्का समर्थक माना जा रहा था, उन्हीं के खिलाफ एसीबी ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. निर्दलीय विधायक सुरेश टाक, ओम प्रकाश हुड़ला और सुखबीर सिंह पर बांसवाड़ा और डूंगरपुर के विधायकों को प्रलोभन देने का आरोप है. वहीं, एसीबी द्वारा मुकदमा दर्ज करने पर गहलोत समर्थक निर्दलीय विधायक सुरेश टाक ने नाराजगी भी जताई है.

एसीबी सूत्रों के मुताबिक ये तीन विधायक अन्य MLA को प्रलोभन देकर प्रदेश की चुनी हुई सरकार को गिराने का प्रयास कर रहे हैं. एसीबी की इस कार्रवाई से निर्दलीय विधायकों में खलबली मच गई है. आरोपी तीनों विधायक लगातार सीएम अशोक गहलोत के सम्पर्क में रहे हैं. तीनों ने ही निर्दलीय कोटे के मंत्री पद पर भी दावेदारी जताई है. यही वजह है कि एसीबी की कार्रवाई पर किशनगढ़ के निर्दलीय विधायक सुरेश टाक ने नाराजगी जताई है. टाक ने कहा कि मैं अचंभित हूं. उन्होंने माना कि एक दिन पहले विधायक रमिला खंडिया से मुलाकात की थी, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि मैंने रमिला को कोई प्रलोभन दिया.

कार्रवाई से खलबली



निर्दलीय विधायक सुरेश टाक ने कहा कि जब मैं पूरी तरह सीएम गहलोत के साथ खड़ा हूं तब सरकार गिराने का प्रयास क्यों करुंगा? यह माना कि मैं विधायक बनने से पहले बीस साल तक भाजपा में सक्रिय रहा, लेकिन आज मुझे किशनगढ़ का विकास करवाना है, इसलिए सरकार के साथ खड़ा हूं. उन्होंने कहा कि एसीबी की ऐसी कार्रवाई से निर्दलीय विधायकों का मनोबल गिरेगा, इसलिए इस मामले में सीएम गहलोत को दखल देना चाहिए. वहीं, दूसरे आरोपी विधायक ओम प्रकाश हुड़ला ने कहा कि उनका भाजपा के किसी भी नेता से सम्पर्क नहीं है और न ही किसी भाजपा नेता ने इन दिनों उनसे बात की है. भले ही एसीबी ने मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया हो, लेकिन मैं सीएम गहलोत के साथ खड़ा हूं.

ये भी पढ़ें: बहन के साथ धान रोपाई करने गई 12 साल की नाबालिग से गैंगरेप, 3 आरोपी फरार

सीएम अशोक गहलोत ने बीजेपी को घेरा

मालूम हो कि सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को बीजेपी सरकार पर राज्य की कांग्रेस सरकार को गिराने का बड़ा आरोप लगाया. साजिश का आरोप लगाते हुए सीएम गलहोत ने कहा कि विपक्षी दल कांग्रेस के विधायकों को 15 करोड़ रुपये का ऑफर कर रही है. उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के दौरान जहां सरकार लोगों के लिए काम कर रही है तो वहीं भाजपा लोगों के लिए परेशान खड़ा कर रही है. बीजेपी लगातार हमारी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading