लाइव टीवी
Elec-widget

राम मंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट में तय करें गुर्जर समाज की भागीदारी

Manoj Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: November 13, 2019, 10:28 AM IST
राम मंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट में तय करें गुर्जर समाज की भागीदारी
अंतरराष्ट्रीय गुर्जर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कर्नल डीएस गुर्जर ने की मांग

गुर्जर महासभा (Gurjar Mahasabha) ने अयोध्या में राममंदिर के निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट में गुर्जर समाज की भागीदारी सुनिश्चित करने की मांग की है.

  • Share this:
टोंक. रामजन्म भूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के दिए गए निर्णय में भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण (Archaeological Survey of India) की रिपोर्ट का हवाला दिए जाने व मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाए जाने आदेश के बाद अंतरराष्ट्रीय गुर्जर महासभा (Gurjar Mahasabha) ने ट्रस्ट में गुर्जर समाज की भागीदारी सुनिश्चित करने की मांग की है. टोंक के दौरे पर आए अंतरराष्ट्रीय गुर्जर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कर्नल डी.एस. गुर्जर (National President Colonel D.S. Gurjar) ने कहा कि भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण ने कोर्ट में पेश अपनी रिपोर्ट में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि राम मंदिर के एक भाग के निर्माण में गुर्जर प्रतिहारों का योगदान रहा है.

पाठ्यक्रम में गुर्जर के साथ 'प्रतिहार' शब्द जोड़ने की अपील

इसे देखते हुए इस मंदिर के निर्माण के बनाए जाने वाले ट्रस्ट में गुर्जर समाज की भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए. कर्नल गुर्जर ने राजस्थान में सत्तारूढ़ रही बीजेपी की पिछली सरकार की इस बात के लिए आलोचना की कि उस समय की सरकार ने पता नहीं क्यों पाठ्यक्रम व अन्य जगह लिखे जाने वाले गुर्जर प्रतिहार शब्द में से प्रतिहार शब्द को हटा दिया. कर्नल गुर्जर से प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मांग की कि वे विलुप्त किए गए प्रतिहार शब्द को पुनः गुर्जरों के साथ जुड़वाकर पूर्ववर्ती सरकार की इस गलती का सुधार करें, जिससे गुर्जर प्रतिहारों का सम्मान बढ़ सके.

ये भी पढ़ें- सांभर झील में मरे मिले 25 प्रजातियों के 8 हजार से ज्यादा पक्षी

ब्रह्मा की नगरी में भारतीय दुल्हन के लिबास में अप्सराओं सी दिखीं विदेशी बालाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टोंक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 10:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com