टोंक कांग्रेस में चरम पर पहुंची गुटबाजी, प्रभारी मंत्री के सामने भिड़ पड़े कार्यकर्ता

टोंक जिला कांग्रेस कमेटी (District Congress Committee) में पिछले कई वर्षों से चली आ रही अंतर्कलह और गुटबाज़ी (Factionalism) इन दिनों पूरे चरम (Extreme) पर है. इसी का परिणाम है कि मंगलवार को प्रभारी मंत्री टीकाराम जूली (Minister in charge Tikaram Julie) की मौजूदगी में हुई कांग्रेसी कार्यकर्ता (Worker) आपस में भिड़ गए.

Manoj Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: September 3, 2019, 8:29 PM IST
टोंक कांग्रेस में चरम पर पहुंची गुटबाजी, प्रभारी मंत्री के सामने भिड़ पड़े कार्यकर्ता
टोंक जिला कांग्रेस कमेटी में पिछले कई वर्षों से चली आ रही अंतर्कलह और गुटबाज़ी इन दिनों पूरे चरम पर है. इसी का परिणाम है कि मंगलवार को प्रभारी मंत्री टीकाराम जूली की मौजूदगी में हुई कांग्रेसी कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए.फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Manoj Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: September 3, 2019, 8:29 PM IST
टोंक. जिला कांग्रेस कमेटी (District Congress Committee) में पिछले कई वर्षों से चली आ रही अंतर्कलह और गुटबाज़ी (Factionalism) इन दिनों पूरे चरम (Extreme) पर है. इसी का परिणाम है कि मंगलवार को प्रभारी मंत्री टीकाराम जूली (Minister in charge Tikaram Julie) की मौजूदगी में कांग्रेसी कार्यकर्ता (Worker) आपस में भिड़ गए. नौबत यह हो गई कि भारी हंगामे की सूचना पर पुलिस (Police) को मौके पर आना पड़ा. लेकिन बाद में कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने इसे घर का झगड़ा बताते हुए पुलिस को वापस लौटा दिया. प्रभारी मंत्री ने हंगामे को कार्यकर्ताओं की मामूली नाराजगी करार दिया है.

कार्यकर्ताओं से संवाद करने पहुंचे थे प्रभारी मंत्री
प्रभारी मंत्री टीकाराम जूली मंगलवार को लंबे समय बाद टोंक पहुंचे थे. यहां वे जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय में कार्यकर्ताओं से संवाद करने आए थे. लेकिन कार्यकर्ताओं से संवाद से पहले ही वहां हंगामा हो गया. मंत्री जूली के आने की सूचना पर कार्यालय में काफी संख्या में कार्यकर्ता एकत्र हो गए थे. इसी दौरान पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता सलीमुद्दीन ख़ान ने किसी बात को लेकर दूसरे कार्यकर्ता राजेश चौधरी को टोक दिया. इस बात को लेकर वे आपस में उलझ गए. देखते ही देखते वहां हंगामा खड़ा हो गया.

प्रभारी मंत्री की अपील का कोई असर नहीं पड़ा

इस दौरान प्रभारी मंत्री टीकाराम जूली शांति और अनुशासन की अपील करते रहे, लेकिन कार्यकर्ता आपस में उलझते रहे. मंत्री के साथ ही कई अन्य वरिष्ठ पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने शांति बनाने की कोशिश की, लेकिन उनका भी कोई असर नहीं पड़ा. हंगामा बढ़ने की सूचना पर कोतवाली थाना पुलिस डीसीसी तक पहुंच गई. लेकिन कार्यकर्ताओं ने इसे पार्टी का अंदरूनी मामला बताकर उसे वापस लौटा दिया. बाद में टीकाराम जूली ने कहा कि कांग्रेस में ना ही किसी तरह का अंतर्कलह है ना ही गुटबाज़ी. ये सिर्फ कार्यकर्ताओं की मामूली नाराज़गी है, जिसे जल्द ही दूर कर लिया जाएगा.

RSS प्रमुख भागवत पहुंचे जयपुर,11 सितंबर तक पुष्कर में रहेंगे

आज का श्रवण कुमार: बूढ़ी मां को हाथ ठेले पर करा रहा है 220 KM की तीर्थयात्रा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टोंक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 8:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...