राजस्थानः आखिर क्यों सचिन पायलट ने चुनाव प्रचार के दौरान नहीं पहना साफा!

पायलट ने बताया कि राजस्थानी संस्कृति का प्रतीक साफा पहनना उन्हें बहुत पसंद हैं लेकिन 2014 में पार्टी की हार के बाद उन्होंने फैसला लिया कि वो सरकार बनने तक साफा नहीं पहनेंगे

News18.com
Updated: December 11, 2018, 1:58 AM IST
News18.com
Updated: December 11, 2018, 1:58 AM IST
राजस्थान विधानसभा के चुनाव परिणाम आज घोषित होंगे. कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने पूरी उम्मीद लगा रखी है कि इस बार प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी. बता दें कि सचिन पायलट ने 2014 में चुनाव प्रचार के दौरान वादा किया था कि जब तक राजस्थान में उनकी पार्टी की सरकार नहीं बनेगी, तब तक वो साफा नहीं पहनेंगे.

पायलट को पूरा विश्वास है कि उनकी पार्टी इस बार राज्य में सरकार बनाएगी और वो विधानसभा चुनाव के बाद फिर से साफा पहनेंगे. राजस्थान विधानसभा की 199 सीटों पर वोटों की गिनती मंगलवार सुबह से शुरू हो रही है.

ये भी पढ़ें- वसुंधरा राजे को उन्हीं के 'गढ़' में चुनाैती देने वाले, कौन हैं मानवेंद्र सिंह? 

पायलट ने बताया था कि राजस्थानी संस्कृति का प्रतीक साफा पहनना उन्हें बहुत पसंद हैं लेकिन 2014 में पार्टी की हार के बाद उन्होंने फैसला लिया कि वो सरकार बनने तक साफा नहीं पहनेंगे. उन्होंने ये भी कहा था कि चुनाव प्रचार के दौरान काफी लोगों ने उन्हें तोहफे के रूप में साफा दिया लेकिन उन्होंने उसे नहीं पहना बल्कि माथे से लगाकर रख दिया.

उन्होंने कहा, 'मुझे पूरा विश्वास है कि कांग्रेस जीतेगी और मुझे एक बार फिर से साफा पहनने का मौका मिलेगा.'

बता दें कि सचिन पायलट मुस्लिम बाहुल्य वाले टोंक विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. यह पहली बार है जब वह विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट से बीजेपी ने यूनुस खान को उम्मीदवार बनाया है. पायलट इससे पहले दौसा और अजमेर से सांसद रह चुके हैं. बता दें कि 2013 के राजस्थान के विधानसभा चुनाव और 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार हुई थी.

5 बार सांसद, 4 बार विधायक और 2 बार CM बन चुकी हैं वसुंधरा राजे, पढ़ें- पूरी प्रोफाइल
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->