लाइव टीवी

विजयादशमी के जुलूस पर पथराव, मालपुरा कस्बे में कर्फ्यू, इंटरनेट और अखबार पर भी बैन

Manoj Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: October 9, 2019, 8:54 AM IST
विजयादशमी के जुलूस पर पथराव, मालपुरा कस्बे में कर्फ्यू, इंटरनेट और अखबार पर भी बैन
बीती शाम विजयादशमी के जुलूस के समय उपद्रवियों द्वारा किए गए पथराव के बाद जिला प्रशासन ने सुबह 6 बजे से कर्फ्यू लगा दिया है.

विजयादशमी के जुलूस पर उपद्रवियों द्वारा पथराव करने के बाद भगदड़ मच गई. तनावपूर्ण हालात के मद्देनज़र जिला प्रशासन (District Administration) ने सुबह 6 बजे से आगामी घोषणा तक कर्फ्यू लगा दिया है.

  • Share this:
टोंक. राजस्थान के टोंक जिले के मालपुरा (Malpura) कस्बे में बीती शाम विजयादशमी (Vijayadashmi Procession) के जुलूस के समय अराजक तत्‍वों द्वारा किए गए पथराव के बाद वहां बिगड़े हालात के मद्देनज़र जिला प्रशासन ने सुबह 6 बजे से आगामी घोषणा तक कर्फ्यू लगा दिया है. पुलिस और प्रशासन ने यहां रात 12 बजे के बाद से ही सभी कंपनियों की इंटरनेट सेवाओं (Internet Services) को आगामी 48 घंटे के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया है. इसके साथ ही सुबह कस्बे में अख़बारों के वितरण पर रोक लगाते हुए रोडवेज़ बसों से पहुंचे अखबारों के बंडलों को अपने कब्ज़े में ले लिया है. जिला प्रशासन और पुलिस ने नगर पालिका के कर्मचारियों की मदद से आज (बुधवार) सवेरे लगभग 4.30 बजे रावण का दहन भी संपन्न करवा दिया है. इस दौरान लोगों का किसी तरह का विरोध न हो पाए, इसके मद्देनज़र पूरे दशहरा मैदान को सुरक्षाबलों के जवानों ने अपनी सुरक्षा में ले लिया है. इसके बाद कलेक्टर केके शर्मा व एसपी आदर्श सिद्धू की मौजूदगी में पालिका कर्मचारियों द्वारा रावण का दहन कर दिया गया है.

जुलूस के समय मची भगदड़

ग़ौरतलब है कि बीती शाम विजयादशमी के जुलूस पर उपद्रवियों द्वारा उस समय पथराव कर दिया गया था, जिस वक्‍त एक समाज के लोगों द्वारा जुलूस में शामिल लोगों का स्वागत और सम्मान किया जा रहा था. इस घटना के बाद जुलूस में भगदड़ मच गई थी. मौके पर मौजूद पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने जैसे तैसे श्रद्धालुओं को दशहरा मैदान तक पहुंचाया था.

Vijaya dashmi
उपद्रवियों द्वारा उस समय पथराव कर दिया गया जिस समय एक समाज के लोगों द्वारा जुलूस में शामिल लोगों का स्वागत किया जा रहा था.


एमएलए के नेतृत्व में धरना

इस घटना के बाद उस समय गतिरोध पैदा हो गया जब मालपुरा विधायक कन्हैयालाल चौधरी के नेतृत्व में एकत्रित लोगों ने रावण दहन से पूर्व पथराव करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए पहले दशहरा मैदान और बाद में पुलिस थाने के बाहर धरना शुरू कर दिया. हालात और ज्यादा न बिगड़े, इसके चलते रात में ही कलेक्टर केके शर्मा, पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू और आईजी (अजमेर) संजीव कुमार नर्जरी भी मालपुरा पहुंचे और रावण दहन पर सहमति बनाए जाने का प्रयास किया.

मालपुरा कस्बा छावनी में तब्दील
Loading...

फिलहाल सभी अधिकारी मालपुरा में डेरा डाले हुए हैं. पूरे कस्बे में पुलिस, आरएसी और दंगा निरोधक बल के जवानों की तैनाती कर दी गई है. एसपी सिद्धू ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर संदिग्‍धों की पहचान और उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: विजयादशमी पर बाड़मेर में राजघराने की ओर से हुई शस्त्र पूजा, निकली पदयात्रा भी

अचनारा के मंदिर में सैड़कों श्रद्धालुओं ने अंगारों पर चलकर किए मां के दर्शन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टोंक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 8:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...