उदयपुर के गांव में चर्चा का विषय बना जुगाड़ से बना आटा चक्की प्लांट

उदयपुर जिले के पलाना कला गांव में जुगाड़ से बना आटा चक्की प्लांट इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है. बाबुलाल गायरी ने इस चक्की प्लांट को बनाया हैं.

Kapil Shrimali | News18 Rajasthan
Updated: February 11, 2019, 7:41 PM IST
Kapil Shrimali | News18 Rajasthan
Updated: February 11, 2019, 7:41 PM IST
उदयपुर के पलाना कला गांव में इन दिनों जुगाड़ से बना आटा चक्की प्लांट चर्चा का विषय बना हुआ है. जुगाड़ के सामान से मशीनें बनाने में उस्ताद बाबुलाल गायरी ने इस चक्की प्लांट को बनाया हैं जो बिना बिजली के भी काम करता है. फिल्म थ्री इडियट्स के आमिर खान की तरह से पलाना कला गांव के बाबूलाल भी अपनी जुगाड़ तकनीक से सभी का दिल जीत रहे हैं. बाबूलाल ने अनुपयोगी वस्तुओं से एक चक्की प्लांट बना डाला हैं जो बिना बिजली के एक लीटर डीजल में 50 किलो गेंहू पीसने में सक्षम है. दरअसल बाबूलाल ने मांगीलाल गमेती नाम के एक किसान को रोजगार देने के लि इस जुगाड़ का निर्माण किया है.

बाबूलाल ने इंजन, पंखा, गियर बॉक्स, मोटरसाकिल के तेल की टंकी, नली और बैट्री का जुगाड़ किया और फिर मांगीलाल के खेत पर जुगाड़ के इस चक्की प्लांट को स्थापित कर दिया. बिजली से भी कम खर्च में चलने वाला यह चक्की प्लांट सेल्फ स्टार्ट की सुविधा वाला है जिसे महिलाऍं भी आसानी से संचालित कर सकती हैं.

बाबूलाल गायरी की मेहनत से अब मांगीलाल गमेती और उसके परिवार को नया रोजगार मिल गया है. बाबूलाल आगे भी अपनी जुगाड़ तकनीक से कई ऐसी मशीनें बनाना चाहते हैं जो कम खर्चे में ज्यादा मुनाफा देने में सक्षम हो.



ये भी पढ़ें-

इंदौर की सड़कों पर दौड़ रही जुगाड़ की कार

VIDEO: रसीली लीची को बचाने लगाया ये जुगाड़
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...