लाइव टीवी

पान मसाला और ई-सिगरेट पर बैन के बाद अब शराबबंदी की चर्चा, CM गहलोत ने दिया ये बयान

satish sharma | News18 Rajasthan
Updated: October 7, 2019, 6:01 PM IST
पान मसाला और ई-सिगरेट पर बैन के बाद अब शराबबंदी की चर्चा, CM गहलोत ने दिया ये बयान
प्रदेश में शराबबंदी की अटकलों पर मुख्यमंत्री ने अपना रुख साफ किया है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने पान मसाला (Pan Masala) और फ्लेवर्ड सुपारी (Flavoured/Scented Supari) पर प्रतिबंध (बैन) के बाद अब प्रदेश में शराबबंदी (Liquor Ban) की अटकलों पर राज्य सरकार (State Government) का रुख साफ किया है.

  • Share this:
उदयपुर. राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) की ओर से गांधी जयंती (Gandhi Jayanti) से मैग्निशियम कार्बोनेट, निकोटिन, तंबाकू या मिनरल ऑयल युक्त पान मसाला (Pan Masala) और फ्लेवर्ड सुपारी (Flavoured/Scented Supari) पर प्रतिबंध (बैन) के बाद अब प्रदेश में शराबबंदी (Liquor Ban) की अटकलें लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई हैं. हालांकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने इस पर राज्य सरकार (State Government) का रुख साफ करते हुए कह दिया है कि प्रदेश में फिलहाल शराबबंदी किया जाना संभव नहीं है.

1977 में शराबबंदी हो गई थी फेल
सीएम गहलोत ने कहा कि, वो व्यक्तिगत तौर पर चाहते हैं कि राजस्थान में शराबबंदी हो, लेकिन शराबबंदी करने पर अवैध और नकली शराब का कारोबार बढ़ेगा, ऐसे में फिलहाल प्रदेश में शराबबंदी किया जाना संभव नहीं है. उन्होंने 1977 का उदाहरण देते हुए कहा कि तब भी शराबबंदी की गई थी, लेकिन फेल हो गई.

ban on alcohol, illegal liquor, ashok gehlot
सीएम अशोक गहलोत ने  पान मसाला और फ्लेवर्ड सुपारी पर प्रतिबंध (बैन) के बाद शराबबंदी की अटकलों पर रुख साफ किया है.


प्रतिबंध के बावजूद गुजरात में सबसे ज्यादा पी जाती है शराब
मुख्यमंत्री गहलोत ने गुजरात में लागू शराबबंदी पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि आज के वक्त में सबसे ज्यादा शराब गुजरात में पी जाती है. गहलोत ने कहा कि जब तक राज्य सरकार अवैध और नकली शराब को रोकने पर कोई पुख्ता कदम नहीं उठाएगी, तब तक शराब बंदी का फैसला नहीं किया जा सकता.

2 अक्टूबर से पान मसाले पर लगाई रोक
Loading...

राज्य में 2 अक्टूबर यानी गांधी जयंती से मैग्निशियम कार्बोनेट, निकोटिन, तंबाकू या मिनरल ऑयल युक्त पान मसाला और फ्लेवर्ड सुपारी पर प्रतिबंध (बैन) लगा दिया गया है. इनके उत्पादन, भंडारण, वितरण और बिक्री पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया गया है. इसके बाद अब महाराष्ट्र और बिहार के बाद राजस्थान देश का तीसरा राज्य बन गया है. इससे पहले राजस्थान में तंबाकू मिश्रित गुटखा (Gutka) और ई-सिगरेट (E-Cigarette) को प्रतिबंध लगाया जा चुका है.

ये भी पढ़ें- 
राजस्थान में अब पान मसाला और फ्लेवर्ड सुपारी पर बैन

देश में अपनी तरह का पहला मामला जिसमें 13 दिन के जुड़वा बच्चों को हुई ये बीमारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उदयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 5:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...