• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Army Recruiting Rally: फर्जी मार्कशीट लेकर पहुंचे 19 कैंडिडेट्स, मिला रिजेक्शन सर्टिफिकेट

Army Recruiting Rally: फर्जी मार्कशीट लेकर पहुंचे 19 कैंडिडेट्स, मिला रिजेक्शन सर्टिफिकेट

फर्जी मार्कशीट वाले किसी भी अभ्यर्थी के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई है.

फर्जी मार्कशीट वाले किसी भी अभ्यर्थी के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई है.

Udaipur News: राजस्थान (Rajasthan) के उदयपुर (Udaipur) में चल रहे सेना भर्ती रैली में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है. 19 अभ्यर्थी फर्जी सर्टिफिकेट के साथ मिले. सभी को रिजेक्शन सर्टिफिकेट थमाया गया है.

  • Share this:

उदयपुर.  राजस्थान (Rajasthan) के उदयपुर (Udaipur) में 8 फरवरी से सेना भर्ती रैली (Army Recruiting Rally) चल रही है. इस सेना भर्ती रैली में 11 जिलों के अभ्यर्थी अपना भाग्य आजमा कर सेना में भर्ती होने के प्रयास कर रहे हैं. भर्ती रैली के बीच आर्मी इंटेलिजेंस की सूचना पर 19 अभ्यर्थी ऐसे पाए गए जिनके दस्तावेजों में हेरफेर किया गया था. आर्मी रिक्रूटमेंट ऑफिस द्वारा सभी 19 अभ्यर्थियों के फॉर्म रिजेक्ट कर उन्हें रिजेक्शन सर्टिफिकेट दिया गया है. उदयपुर की खेल गांव में चल रही इस सेना भर्ती रैली में कोरोना प्रोटोकॉल का पालना करने के चलते प्रतिदिन करीब 3500 अभ्यर्थियों को बुलाया जा रहा है और उन्हें दौड़ और शारीरिक दक्षता की परीक्षा से गुजरना होता है.

सेना में भर्ती होने के लिए आयु सीमा तय कर रखी है. ऐसे में आर्मी इंटेलिजेंस को 19 ऐसे अभ्यर्थियों की जानकारी मिली जो ओवर एज हो चुके थे. उन्होंने अपनी मार्कशीट में फर्जीवाड़ा कर शारीरिक दक्षता परीक्षा में भाग लिया था.

मिला रिजेक्शन सर्टिफिकेट

जो अभ्यर्थी फर्जी दस्तावेजों के साथ पाए गए वे नागौर जिले के बताए जा रहे हैं. इंटेलिजेंस की सूचना पर आर्मी रिक्रूटमेंट ऑफिस ने त्वरित कार्रवाई की. हालांकि किसी भी अभ्यर्थी के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज नहीं कराना चर्चा का विषय बना रहा है. आर्मी रिक्रूटमेंट ऑफिस द्वारा सभी 19 अभ्यर्थियों को रिजेक्शन सर्टिफिकेट पकड़ा कर उनके घर रवाना कर दिया गया. इन अभ्यर्थियों ने अपनी उम्र ज्यादा होने के चलते 10वीं की मार्कशीट में जन्मतिथि के साथ छेड़छाड़ की थी. उसी फर्जी दस्तावेज के साथ वह भर्ती रैली में शामिल होने पहुंचे थे.

ये भी पढ़ें: तारणी महतो हत्याकांड: 20 साल बाद पांच आरोपियों को मिली उम्रकैद की सजा, कोर्ट ने जुर्माना भी लगाया
आर्मी रिक्रूटमेंट ऑफिस के साथ 19 अभ्यर्थियों ने धोखाधड़ी की कोशिश की, लेकिन इन्हें केवल रिजेक्शन सर्टिफिकेट देकर घर भेजा गया. सेना में भर्ती होने के लिए फर्जीवाड़ा कर रहे इन छात्रों के खिलाफ किसी तरह की एफआईआर दर्ज नहीं कराई गई. उदयपुर में अभ्यर्थी फर्जी मार्कशीट के साथ पकड़ में आए इसकी जानकारी तुरंत फैल गई।,लेकिन यह भी चर्चा का विषय रहा कि आखिर ऐसा फर्जीवाड़ा करने वाले छात्रों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं की गई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज