• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Atmanirbhar Bharat Abhiyan: उदयपुर के युवा डॉक्टर ने आपदा को बदला अवसर में, किया ये बड़ा काम

Atmanirbhar Bharat Abhiyan: उदयपुर के युवा डॉक्टर ने आपदा को बदला अवसर में, किया ये बड़ा काम

डॉ. पारीक ने बताया कि उन्होंने दो मशीनें बनाई हैं. इनमें एक हैण्ड हैल्ड डिवाइस हैं तो वहीं दूसरी यूवीसी ब्लास्टर है.

कोरोना संकट काल (COVID-19) में देश के पीएम नरेन्द्र मोदी ने (PM Narendra Modi) जब आत्मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan) का आगाज करते हुए 'लोकल फॉर वोकल' का आव्हान किया तो लेकसिटी उदयपुर (Udaipur) के एक युवा डॉक्टर ने उस पर तत्काल अमल करते हुए सेनेटाइजेशन की ऐसी मशीन बना डाली जो अब तक चाइना से इम्पोर्ट की जाती रही है.

  • Share this:
उदयपुर. कोरोना संकट काल (COVID-19) में देश के पीएम नरेन्द्र मोदी ने (PM Narendra Modi) जब आत्मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan) का आगाज करते हुए 'लोकल फॉर वोकल' का आव्हान किया तो लेकसिटी उदयपुर (Udaipur) के एक युवा डॉक्टर ने उस पर तत्काल अमल करते हुए सेनेटाइजेशन की ऐसी मशीन बना डाली जो अब तक चाइना से इम्पोर्ट की जाती रही है. डॉक्टर ने सफलता मिलने के बाद अब इस मशीन के पेंटेंट के लिये भी आवेदन कर दिया है. मेड इन इंडिया के तहत ना सिर्फ यहां इसका निर्माण किया जा रहा है, बल्कि दर्जनों लोगों को इसके माध्यम से रोजगार भी दिया जा रहा है.

सेनेटाइजर की सर्वाधिक मांग को देखते हुए इस पर किया काम
कोरोना संकट में सेनेटाइजर की सर्वाधिक मांग को देखते हुए लेकसिटी के युवा डेंटिस्ट डॉ. वैभव पारीक इसी क्षेत्र में नवाचार का मानस बनाया और उसमें सफलता भी हासिल की. बेहद कम समय में पहले देखा गया ख्वाब अब साकार होने लगा है. डॉ. वैभव पारीक ने ऐसी यूवी सेनेटाइजर मशीन बनाई है जो अब तक चाइना से इंपोर्ट की जाती थी. चाइना से आने वाले प्रोडक्ट पर ज्यादा भरोसा नहीं किया जा सकता. इसीलिये डॉ. वैभव ने स्वयं इसकी डिजाइन तैयार किया और प्रोडक्शन भी करना शुरू कर दिया. इसकी खासियत इसमें लगने वाले मुवेबल रिफ्लेक्टर है जो व्यक्ति को सुरक्षित रखते हुए हर जगह को सेनेटाइज करने में सहायता करते हैं.

चंद मिनटों में सेनेटाइज किया जा सकता
डॉ. वैभव के मन में कुछ नया करने का सपना था और सपनों को पंख तभी लगते है जब मन में हौसला और जज्बा हों. डॉ. वैभव ने इस मशीन की डिजाइन तैयार कर इसे अनुठा बना दिया है. यह मशीन चंद मिनटों में सिर्फ स्वीच ऑन करते हुए हर जगह को सेनेटाइज कर देगी. इस मशीन से हर उस जगह को चंद मिनटों में सेनेटाइज किया जा सकता है जो आमतौर पर जनता के सम्पर्क में आने से संक्रमित होने की संभावना बढ़ाती है.

दो तरह की मशीनें बनाई है
डॉ. पारीक ने बताया कि उन्होंने दो मशीनें बनाई हैं. इनमें एक हैण्ड हैल्ड डिवाइस हैं तो वहीं दूसरी यूवीसी ब्लास्टर है. दोनों में फर्क है. एक मशीन हाथ में लेकर वस्तुओं को सेनटाइज करने के काम में आती हैं और दुसरी मशीन किसी भी बडे कमरे, मॉल, शॉप, ऑफिस को चंद मिनटों में संक्रमण मुक्त कर देती हैं. हैण्ड हेल्ड डिवाइस में 2 ट्यूबलाइट लगाई गई हैं जो 11 वाल्ट और आठ इंच की है तो वहीं यूवीसी ब्लास्टर में 6 ट्यूबलाइट हैं जो बडे स्पेस को संक्रमण मुक्त करने के लिये बनाई गई है. डॉ. पारीक ने बताया कि इससे घातक किरणें निकलती हैं जिससे आंखों और त्वचा को बचाकर रखना होता है. रिमूवेबल रिफ्लेक्टर लगाकर उन्होंने इसी खतरे को कम करने की कोशिश की है.

Atmanirbhar Bharat Abhiyan: उदयपुर के युवा डॉक्टर ने आपदा को बदला अवसर में, किया ये बड़ा काम Atmanirbhar Bharat Abhiyan-Rajasthan- Udaipur- doctor made sanitizer machine- PM Narendra Modi- local for vocal
हैण्ड हेल्ड डिवाइस में 2 ट्यूबलाइट लगाई गई है.


भारत में बनी वस्तुओं को सपोर्ट किया जाये
दरअसल कोरोना इंसान की इम्युनिटी को घटाता है तो यह डिवाइस उसके विरूद्ध उसे खत्म कर एंटी ऑक्सीडेंट के तौर पर भी काम करता है. पीएम मोदी ने लोकल फॉर वोकल का आव्हान किया था. इसके माध्यम से साफ संदेश था कि बाहर से बनी चीजों के मुकाबले भारत में बनी वस्तुओं को सपोर्ट किया जाये. वहीं आत्मनिर्भर भारत के माध्यम से लोगों को नवाचार के लिये प्रेरित किया गया था. डॉ. वैभव का यह प्रयास पीएम के सपने को साकार करता हुआ नजर आ रहा है.

राजस्‍थान में शुतुरमुर्ग ने दे दिए 8 अंडे, खबर सुन अब मनाई जा रही खुशियां

Rajya Sabha Elections: अब RLP ने लगाए अनैतिक दबाव और प्रलोभन के आरोप

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज