Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan: उदयपुर के सलिल सिंघल पीएम मोदी के साथ मंच पर रहेंगे मौजूद
Udaipur News in Hindi

Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan: उदयपुर के सलिल सिंघल पीएम मोदी के साथ मंच पर रहेंगे मौजूद
सलिल सिंघल विहिप के पूर्व अध्यक्ष अशोक सिंघल के बड़े भतीजे हैं.

अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर (Ram Mandir) बनाने के लिये 5 अगस्त को भूमि पूजन किया जायेगा. इसमें उदयपुर का सिंघल परिवार भी शामिल होगा.

  • Share this:
उदयपुर. अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर (Ram Mandir) बनाने के लिये 5 अगस्त को भूमि पूजन किया जायेगा. इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) के साथ आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनन्दी पटेल और मुख्मयंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ चुनिंदा मेहमानों को ही निमंत्रण मिला है. इन चुनिंदा लोगों में उदयपुर का सिंघल परिवार भी शामिल हैं.

विहिप के पूर्व अध्यक्ष अशोक सिंघल के बड़े भतीजे हैं
हालांकि पूरा सिंघल परिवार कोविड-19 के चलते कार्यक्रम में नहीं पहुंच पायेगा लेकिन दिल्ली में मौजूद परिवार के बड़े सदस्य सलिल सिंघल अपनी पत्नी मधु और बेटे मयंक सिंघल के साथ कार्यक्रम में शामिल होंगे. सलिल सिंघल उदयपुर की पीआई इंडस्ट्रीज लि. के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक हैं. वे विहिप के पूर्व अध्यक्ष अशोक सिंघल के बड़े भतीजे हैं. उदयपुर में सलिल के छोटे भाई अरविंद सिंघल भी रहते हैं. उन्हें भी कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण मिला है, लेकिन वे कोरोना संक्रमण के इस दौर में कार्यक्रम में शामिल होने के लिये नहीं जायेंगे.

Rajasthan: कच्छावा वंश की कुलदेवी जमवाय माता के मंदिर की मिट्टी भी लगेगी राम मंदिर की नींव में
हवन में भी शामिल होंगे सलिल सिंघल


जानकारी के अनुसार सलिल सिंघल कार्यक्रम में बतौर मुख्य यजमान शामिल होंगे और मंच पर भी मौजूद रहेंगे. बताया जा रहा है कि वे भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान होने वाले हवन में भी शामिल होंगे. सलिल सिंघल को इस कार्यक्रम में प्रमुखता इसलिये भी दी जा रही हैं क्योंकि अशोक सिंघल उन नेताओं में शुमार रहे हैं जिन्होंने राम मंदिर आंदोलन में मुख्य भूमिका अदा की थी.

Rajasthan: 93 वर्षीय शेखावत ने रामजन्म भूमि आंदोलन को घर-घर पहुंचाया, लेकिन शिलान्यास नहीं देख पाये

उदयपुर शहर को भी राममय बनाने की तैयारी
उदयपुर के सलिल सिंघल अयोध्या में पीएम मोदी के साथ मंच पर मौजूद होंगे. वहीं भूमि पूजन कार्यक्रम के समय उदयपुर शहर को भी राममय बनाने की तैयारी की गई हैं. विहिप के पदाधिकारियों ने विभिन्न टोलियां बनाई गई है और लोगों से घर-घर जाकर संपर्क कर उनसे रामधुन, सुंदरकांड, रामायण और भजन करने की अपील कर रहे हैं. उदयपुर में सभी लोगों से 5 अगस्त को घर-घर दीपक जलाने का आव्हान किया गया है. इस दिन को दीपावली की तरह मनाने का निर्णय लिया गया है. शहर के सभी हनुमान और राम मंदिरों में विशेष आयोजन रखे गये हैं. कोविड 19 के चलते इसमें आमजनता की सहभागिता नहीं रखी जायेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज