Assembly Banner 2021

उदयपुर में BJP अल्पसंख्यक मोर्चा के पदाधिकारी आपस में भिड़े, एक-दूसरे को दी गालियां

प्रदर्शन के दौरान बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चे के प्रदेशाध्यक्ष एम सादिक खान भी मौजूद थे. उन्होंने अपने पदाधिकारियों की सार्वजनिक स्थल पर की गई इस हरकत पर कड़ी नाराजगी जताई.

प्रदर्शन के दौरान बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चे के प्रदेशाध्यक्ष एम सादिक खान भी मौजूद थे. उन्होंने अपने पदाधिकारियों की सार्वजनिक स्थल पर की गई इस हरकत पर कड़ी नाराजगी जताई.

उदयपुर में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चे (BJP Minority Front) के पदाधिकारी आपस में ही भिड़ पड़े. मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी में हुए इस हुड़दंग में प्रदेश और जिला पदाधिकारियों में जमकर गाली-गलौच हुई.

  • Share this:
उदयपुर. लेकसिटी उदयपुर में मंगलवार को प्रदेश की कांग्रेस सरकार (Congress Government) की नीतियों को अल्पसंख्यक विरोधी बताकर प्रदर्शन करने पहुंचे बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा (BJP Minority Front) के पदाधिकारी आपस में ही भिड़ गए. इस दौरान कुछ पदाधिकारियों ने जमकर अपशब्दों (Abusive words) का प्रयोग किया. मामला मंच पर कुछ नेताओं को बोलने का मौका न मिलने के कारण शुरू हुआ था.

ज्ञापन देने गए प्रतिनिधिमंडल में भी उनको शामिल नहीं किये जाने से मामला तूल पकड़ गया. इसके चलते अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष एम सादिक खान के सामने ही राज्य और जिला पदाधिकारियों में कहासुनी हो गई. मौके पर मौजूद लोगों को बीच-बचाव कर मामला शांत कराना पड़ा.

Youtube Video




'यहां ताली बजाने नहीं आए'
प्रदर्शन के दौरान बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष एम सादिक खान भी मौजूद थे. उन्होंने अपने पदाधिकारियों की सार्वजनिक स्थल पर की गई इस हरकत पर कड़ी नाराजगी जताई. एम सादिक खान ने अपने पदाधिकारियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि वे एक दूसरे का सम्मान नहीं कर सकते हैं तो वह खुद को पद मुक्त समझ लें. प्रदेशाध्यक्ष एम सादिक खान ने कहा कि वे यहां ताली बजाने या भाई साहब-भाई साहब करने नहीं आए हैं.

'कांग्रेस सरकार की नीतियों अल्पसंख्यक विरोधी'
बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार की नीतियों को अल्पसंख्यक विरोधी बताया. उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर अल्पसंख्यक वर्ग की योजनाओं पर विराम लगाने और मुद्दों से भटकाने का आरोप लगाया. प्रदर्शन के दौरान अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना में छात्र सीमा को हटा देने और अल्पसंख्यक छात्रों को कोचिंग के लिए छात्रवृत्ति देने वाली योजनाओं का सही रूप से क्रियान्वयन नहीं करने जैसे भी मुद्दे उठाए गये. प्रदर्शन के दौरान बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के अलावा शहर बीजेपी और महिला मोर्चा के वरिष्ठ पदाधिकारी भी मौजूद थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज