अपना शहर चुनें

States

Udaipur: लेकसिटी में फिर से चलेंगी नावें और सिटी बसें, इन शर्तों की करनी होगी पालना

बोटिंग स्थल पर सेनिटाइजर की व्यवस्था हर समय उपलब्ध रहेगी. प्रत्येक राइड के पहले एवं बाद में नाव को पूरी तरह से सेनिटाइज किया जाएगा.
बोटिंग स्थल पर सेनिटाइजर की व्यवस्था हर समय उपलब्ध रहेगी. प्रत्येक राइड के पहले एवं बाद में नाव को पूरी तरह से सेनिटाइज किया जाएगा.

उदयपुर शहर के लिये राहत की खबर है. कोरोना संक्रमण (COVID-19) की गति धीमी पड़ने के बाद अब जिला कलक्टर ने सिटी बसों और झीलों में नावें (Boats and buses) चलाने की सशर्त अनुमति दे दी है.

  • Share this:
उदयपुर. कोरोना संक्रमण (COVID-19) की गति मंद पड़ने के बाद अब नगर निगम उदयपुर शहर में सिटी बसें और गोवर्धन सागर एवं पिछोला झील में फिर से नावें (Boats and buses) चलायेगा. जिला कलक्टर ने इनके संचालन को लेकर सशर्त अनुमति जारी कर दी है. इनके संचालन में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क (Social distancing and masks) की अनिवार्यता समेत कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा पालन करना होगा.

नगर निगम गैराज शाखा अध्यक्ष मनोहर चौधरी ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते लॉडाउन के दौरान से ही नगर निगम ने शहर में चलने वाली सिटी बसों और गोवर्धन सागर व पिछोला झील में नावों का संचालन बंद कर दिया था. वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए नगर निगम महापौर गोविंद सिंह टाक की अनुशंसा पर निगम आयुक्त ने इनको फिर से शुरू करने की अनुमति देने के लिये जिला कलक्टर को पत्र लिखा था. इस पर संज्ञान लेते हुए सोमवार को जिला कलक्टर ने नाव और सिटी बसों के संचालन की अनुमति प्रदान कर दी है.

राजस्थान मौसम अपडेट: माउंट आबू, चूरू और फतेहपुर में पारा जमाव बिन्दु से नीचे अटका, देखें कहां कितना रहा तापमान

संचालन के लिये सशर्त अनुमति दी गई है


जिला कलक्टर ने शहर में सिटी बसों के संचालन और झीलों में नावों के संचालन के लिये सशर्त अनुमति प्रदान की है. इसके तहत बोटिंग स्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कराई जाएगी. एक ही स्थान पर एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होंगे. इसके साथ ही उपस्थित सभी व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से मास्क लगाना होगा।. बोटिंग स्थल के प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीन के उपरांत ही आगंतुकों का प्रवेश दिया जाएगा. प्रवेश द्वार पर गोले बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करवाई जाएगी.

नावों को पूरी तरह से सेनिटाइज किया जाएगा
बोटिंग स्थल पर सेनिटाइजर की व्यवस्था हर समय उपलब्ध रहेगी. प्रत्येक राइड के पहले एवं बाद में नाव को पूरी तरह से सेनिटाइज किया जाएगा. स्पीड बोट और सामान्य बोट में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करते हुए 50% क्षमता तक ही पर्यटक को बैठाया जायेगा. निर्देशों में समस्त नाव संचालकों को गृह मंत्रालय भारत सरकार, गृह विभाग राजस्थान सरकार और जिला कलक्टर उदयपुर की ओर से जारी दिशा-निर्देशों की पालना सुनिश्चित करनी होगी.

लापरवाही पाए जाने पर अनुबंध समाप्त कर दिया जायेगा
वहीं सिटी बस में सभी व्यक्तियों को यात्रा करते समय सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करनी होगी. वाहन को यात्रा से पहले एवं यात्रा के बाद पूरी तरह सेनिटाइज किया जाएगा. बसों में सवारियों की संख्या पंजीकृत वाहन की स्वीकृति क्षमता से अधिक नहीं होगी. संचालकों के द्वारा किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं हो इसलिए प्रतिदिन निगम द्वारा जांच की जाएगी. किसी भी प्रकार की लापरवाही पाए जाने पर अनुबंध समाप्त कर दिया जायेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज