अपना शहर चुनें

States

Gajendra Singh Shaktawat Death: सचिन पायलट के करीबी थे गजेन्द्र सिंह शक्तावत, वल्लभनगर से 2 बार बने विधायक

गत वर्ष प्रदेश में सीएम अशोक गहलोत और पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट के बीच हुये सियासी घमासान में वे पायलट खेमे के साथ नजर आये. (Photo twitter)
गत वर्ष प्रदेश में सीएम अशोक गहलोत और पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट के बीच हुये सियासी घमासान में वे पायलट खेमे के साथ नजर आये. (Photo twitter)

Gajendra Singh Shaktawat Death: कांग्रेस विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत (Congress MLA) मेवाड़ में पार्टी का युवा चेहरा थे. वे सचिन पायलट (Sachin Pilot) के करीबियों में शुमार थे. गहलोत-पायलट खेमे में चले सियासी संग्राम में वे खुलकर पायलट के समर्थन में आए थे.

  • Share this:
उदयपुर. पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) के करीबियों में शामिल माने जाने वाले कांग्रेस विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत (MLA Gajendra Singh Shaktawat) उदयपुर जिले के वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र से 2 बार विधायक रहे हैं. पिछली गहलोत सरकार में संसदीय सचिव रह चुके शक्तावत ने विधानसभा के तीन चुनाव लड़े थे. इनमें से दो में वे विजयी रहे, और एक में उनको हार का सामना करना पड़ा था.

दिल्ली में बुधवार को उपचार के दौरान शक्तावत के निधन के बाद जैसे ही इसका सूचना मेवाड़ पहुंची तो यहां शोक की लहर छा गई. शक्तावत के निधन की सूचना मेवाड़ में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के ट्वीट से मिली. उसके बादद उदयपुर के न्यू फतेहपुरा इलाके में स्थित शक्तावत के निवास के बाहर उनके समर्थक जमा होने लगे. शक्तावत कुछ महीनों से लगातार बीमार चल रहे थे. उसके बाद उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती गई.

कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया था, लेकिन उबर गये थे
गजेंद्र सिंह शक्तावत का निधन लिवर खराब होने के कारण हुआ बताया जा रहा है. कुछ माह पहले पीलिया बिगड़ने के बाद से शक्तावत का इलाज चल रहा था. हालांकि उसमें कुछ रिकवरी जरूर हुई थी लेकिन इस बीच शक्तावत को कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया. उसके बावजूद उनकी तबीयत सुधरने लगी थी, लेकिन मंगलवार रात को अचानक फिर तबीयत बिगड़ने के बाद बुधवार को सुबह उनका निधन हो गया.

मेवाड़ में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज