Assembly Banner 2021

उदयपुर में कोरोना विस्फोट, ब्लाइंड स्कूल के 25 बच्चे और 4 कर्मचारी संक्रमित मिले

कोरोना संक्रमण के केस पाए जाने के बाद अंध स्कूल को सैनेटाइज करते कर्मचारी.

कोरोना संक्रमण के केस पाए जाने के बाद अंध स्कूल को सैनेटाइज करते कर्मचारी.

चिकित्सा विभाग ने अंध विद्यालय के 80 बच्चे और 10 स्टाफ की सैंपलिंग कराई थी. इसकी रिर्पोट आज आई और उसमें 25 बच्चे और तीन स्टाफ में संक्रमण की पुष्टी हुई है.

  • Share this:
उदयपुर. उदयपुर (Udaipur) में एक बार फिर कोरोना ब्लास्ट (Corona blast) हुआ है. इस बार शहर के अंबामाता इलाके के राजकीय प्रज्ञा चक्षु उच्च माध्यमिक अंध विद्यालय (Pragya Chakshu Higher Secondary Blind School) में बच्चों में संक्रमण पाया गया है. बच्चों के संक्रमित होने की सूचना पर प्रशासन, पुलिस और चिकित्सा महकमे में हड़कंप मच गया. प्रज्ञा चक्षु विद्यालय में 25 बच्चों और 4 स्टाफ में संक्रमण की पुष्टी हुई है.

शिक्षक से बच्चों तक कोरोना पसरने का अनुमान

बताया जा रहा है कि दो दिन पहले एक शिक्षक का कोरोना टेस्ट कराया गया था. उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सभी बच्चों की सैंपलिंग कराई गई. अनुमान लगाया जा रहा है कि ये सभी बच्चे शिक्षक के संपर्क में आने के बाद ही पॉजीटिव हुए है. एक शिक्षक के संक्रमित होने के बाद प्रिंसिपल ने सभी की जांच कराई ​थी. चिकित्सा विभाग ने अंध विद्यालय के 80 बच्चे और 10 स्टाफ की सैंपलिंग कराई थी. इसकी रिर्पोट आज आई और उसमें 25 बच्चे और तीन स्टाफ में संक्रमण की पुष्टी हुई है.



हॉस्टल में रहते हैं कुल 91 बच्चे
अंध स्कूल में कुल 91 बच्चे हॉस्टल में रहते हैं, इसमें 11 बच्चे बाहर से आते हैं. अब विद्यालय में कुल 9 बच्चों की सैंपलिंग और बची है. उनकी सैंपलिंग के लिए जिला कलक्टर ने सीएमएचओ निर्देशित किया है. प्रशासन ने सभी को आईसोलेशन में कर दिया है.

स्कूल के 16 लोगों की सैंपलिंग बाकी

सीएमएचओ ​डॉ दिनेश खराडी ने बताया कि 9 बच्चों सहित कुल 16 लोगों की सैंपलिंग बाकी है. ऐसे में सभी की सैंपलिंग तुरंत कराई जाएगी. स्कूल प्रिसिंपल से सभी के एड्रेस और मोबाइल नंबर लिए गए हैं. विद्यालय के छात्रों में संक्रमण की पुष्टी होते ही जिला कलक्टर चेतन देवड़ा, एसपी डॉ राजीव पचार और सीएमएचओ डॉ दिनेश खराडी पूरे महकमे के साथ पहुंचे.

सैनेटाइज कराया जा रहा है पूरा इलाका

आसपास रिहायशी इलाका होने के चलते पूरी कॉलोनी सील कर दी गई है. आसपास के इलाकों में रहनेवाले लोगों को घर में रहने की सलाह दी गई है. साथ ही रास्तों पर बैरिकेडिंग लगाकर पुलिस के जवान तैनात कर दिए गए हैं. आसपास के पूरे इलाके को सैनेटाइज कराया गया है. साथ ही मेडिकल टीम ने पूरे इलाके में सर्वे का कार्य शुरू कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज