कोरोना हॉटस्पॉट उदयपुर: पॉजिटिव होने के बावजूद फ्लाइट में की यात्रा, यात्री-एयरलाइंस स्टाफ पर FIR

यात्री ने पुनः दिल्ली की यात्रा कर अन्य सहयात्रियों एवं सम्पर्क में आने वाले लोगों का जीवन खतरे में डाला.  (सांकेतिक तस्वीर)

यात्री ने पुनः दिल्ली की यात्रा कर अन्य सहयात्रियों एवं सम्पर्क में आने वाले लोगों का जीवन खतरे में डाला. (सांकेतिक तस्वीर)

Udaipur becomes Corona's big hot-spot: विश्वप्रसिद्ध ट्यूरिस्ट डेस्टिनेशन लेकसिटी उदयपुर कोरोना की दूसरी लहर में राजस्थान में सबसे बड़ा हॉट-स्पॉट बनकर उभरा है.

  • Share this:
उदयपुर. कोरोना की दूसरी लहर में विश्वप्रसिद्ध पर्यटक स्थल लेकसिटी उदयपुर राजस्थान में कोरोना का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट (Corona's biggest hot spot) बनकर उभर रहा है. झीलों की नगरी में तेजी से फैलते संक्रमण के कारण जिला प्रशासन अब पूरी सख्ती बरतने लगा गया है. उदयपुर में मंगलवार को 729 नए पॉजिटिव केस आए हैं. उदयपुर राजस्थान का एकमात्र ऐसा शहर है, जहां 12 घंटे का नाइट कर्फ्यू (Night curfew) लगा हुआ है. यहां शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लागू है.

जिला कलेक्टर चेतन देवड़ा के निर्देशानुसार उदयपुर एयरपोर्ट पर जांच में पॉजिटिव पाए जाने और इसके बावजूद बिना किसी सूचना के पुनः हवाई यात्रा कर भाग जाने के एक प्रकरण में दिल्ली निवासी इशांक सुनेजा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. एडीएम (प्रशासन) ओपी बुनकर ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से एयरपोर्ट पर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करवाने के लिये नियुक्त प्रभारी ने डबोक थाने पर यह एफआईआर दर्ज करवाई है.

Youtube Video


यह है पूरा मामला
एडीएम बुनकर ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार के गृह विभाग और जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला कलेक्टर के आदेशानुसार अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों को आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट लेकर आना अनिवार्य है. तीन दिन पहले 10 अप्रेल को उदयपुर पहुंचने पर एयरपोर्ट पर जांच के दौरान दिल्ली निवासी इशांक के पास कोविड-19 जांच की निगेटिव रिपोर्ट नहीं थी. इस पर उनका कोविड-19 जांच के लिये सैंपल लिया गया और 15 दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया था.

यात्री बिना बताए वापस भाग गया

यात्री इशांक ने इसके लिये उदियापोल स्थित एक होटल में क्‍वारंटीन होना बताया. इसके लिए उनसे लिखित में घोषणा-पत्र भी लिया गया था. इशांक की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर संबंधित लैब ने कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी. बाद में जानकारी करने पर पता चला कि यात्री इशांक 11 अप्रेल को पुनः इंडिगो फ्लाइट से दिल्ली लौट गया. यह जानते हुए भी कि प्रशासन ने उसे क्‍वारंटीन कर रखा है और उसके सेम्पल की रिपोर्ट आना शेष है. ऐसे में यात्री ने पुनः दिल्ली की यात्रा कर अन्य सहयात्रियों एवं सम्पर्क में आने वाले लोगों का जीवन खतरे में डाला.



संबंधित एयरलाइन स्टाफ और होटल प्रबंधन ने भी किया उल्लंघन

एडीएम बुनकर ने बताया कि संबंधित एयरलाइन जान बूझकर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आदेश का उल्लंघन कर बिना आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट के यात्री को उदयपुर लेकर आई और सह यात्रियों की जान जोखिम में डालकर संक्रमण का खतरा फैलाया. इसी तरह यात्री जिस होटल में ठहरा उस होटल ने भी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आदेश का उल्लंघन कर बिना नेगेटिव रिपोर्ट के यात्री को ठहराया. बाद में बिना रिपोर्ट आये ही यात्री को चेक आउट करने दिया और यात्री को क्‍वारंटीन नहीं रखा.

लापरवाही पर कार्रवाई

एफआईआर में बताया गया है कि लापरवाह यात्री इशांक, एयरलाइन्स स्टाफ और होटल प्रबंधन का यह कृत्य भारतीय दंण्ड संहिता-270 के तहत अपराध है. इसी तरह यात्री द्वारा क्‍वारंटीन के प्रावधान का पालन नहीं करना धारा-51 और 52 आपदा प्रबंधन के तहत अपराध है.

वर्तमान में 4922 एक्टिव केस

उदयपुर जिले में वर्तमान में 4922 एक्टिव केस हैं. प्रशासन की सख्ती के चलते कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वाले शहर के कई शो-रूम और मॉल सीज कर दिये गये हैं. वहीं कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वाल लोगों के खिलाफ तेजी से कार्रवाइयां की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज