Coronavirus: चिकित्सा विभाग की अपील, भीलवाड़ा के बांगड हॉस्पिटल में इलाज कराया है तो तुरंत संपर्क करें

सीएमएचओ ने जनता से अपील की वे चिंतित ना हो लेकिन सतर्कता पूरी बरतें.

सीएमएचओ ने जनता से अपील की वे चिंतित ना हो लेकिन सतर्कता पूरी बरतें.

भीलवाड़ा के एक हॉस्पिटल के चिकित्सक के कोरोना वायरस (Corona virus) संक्रमित होने के बाद चिकित्सा महकमे की चिंता बढ़ गई है. कोरोना वायरस पॉजीटिव आये इस चिकित्सक (Doctor) ने भीलवाड़ा के बांगड हॉस्पिटल में करीब 9 हजार मरीजों को इलाज (Treatment) किया था.

  • Share this:
उदयपुर. भीलवाड़ा के एक हॉस्पिटल के चिकित्सक के कोरोना वायरस (Corona virus) संक्रमित होने के बाद चिकित्सा महकमे की चिंता बढ़ गई है. कोरोना वायरस पॉजीटिव आये इस चिकित्सक (Doctor) ने भीलवाड़ा के बांगड हॉस्पिटल में करीब 9 हजार मरीजों को इलाज (Treatment) किया था. ऐसे में अब उसी चिकित्सक के पॉजीटिव आने के बाद समीपवर्ती इलाके में सतर्कता (Alertness) बढ़ा दी गई है. उदयपुर के चिकित्सा विभाग ने आम जनता से अपील की है कि यदि 1 मार्च के बाद भीलवाड़ा के बांगड हॉस्पिटल में यदि किसी ने इलाज कराया है तो वह तुरंत नजदीकी चिकित्सा केन्द्र या कोरोना नियंत्रण कक्ष पर संपर्क करे. चिकित्सा विभाग का मानना है कि आम जनता को जागरुक होकर स्वत: संपर्क करना पड़ेगा. उसी से यह महामारी बढ़ने से रोकी जा सकेगी.



बाहर से आने वाली बसों का भी पूरा डाटा इकट्ठा किया जा रहा है

दुसरी और झुंझुंनू से उदयपुर आये लोगों को भी तुरंत चिकित्सा विभाग से संपर्क करने की अपील जारी की गई है. चिकित्सा विभाग ने झुंझुंनू में एक दपंत्ति के पॉजीटिव आने के बाद उदयपुर में भी सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है. इसी कड़ी में उदयपुर में इस दंपत्ति के पुत्र को एक निजी चिकित्सालय में आईसोलेशन पर रखा गया था. उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद सभी ने राहत की सांस ली है. यह युवक अपने माता-पिता से मिलने झुंझुनूं गया था. चिकित्सा विभाग अब उदयपुर के बाहर से आने वाली बसों का भी पुरा डाटा इकट्ठा कर रही है. जिला प्रशासन के माध्यम से यात्रियों की पुरी लिस्ट तैयार कराकर नजदीकी चिकित्सक से उनकी स्क्रिनिंग कराई जायेगी.



दो हजार कमरों की व्यवस्था की
उदयपुर में चिकित्सा विभाग की ओर से 11 देशों से आये पर्यटकों और लोगों को ओटीसी में क्वारंटाइन रखा जायेगा. जिला प्रशासन ने शहर में सरकारी और निजी होटल्स में मिलाकर करीब दो हजार कमरों की व्यवस्था की है जिन्हें जरूरत पड़ने पर आईसोलेनशन वार्ड के रूप में काम लिया जा सकेगा. उदयपुर में अब तक हॉस्पिटल में करीब 61 हजार लोगों की स्क्रिनिंग की गई हैं. इनमें करीब सात हजार लोगों को सर्दी जुकाम की शिकायत थी. चिकित्सा विभाग उन पर पूरी निगरानी रख रहा है. दुसरी और विदेशियों से संपर्क में आने वाले 3913 लोगों की भी स्क्रिनिंग की जा चुकी है.





चिंतित ना हो लेकिन सतर्कता पूरी बरतें

चिकित्सा विभाग अब सख्ती भी बरत रहा है. यदि संदिग्ध व्यक्ति चिकित्सकों की मदद नहीं करेगा या जानकारी छिपायेगा तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जायेगी. सीएमएचओ ने जनता से अपील की वे चिंतित ना हो लेकिन सतर्कता पूरी बरतें.



 



Coronavirus: संदिग्ध मरीजों की संख्या बढ़ी, भीलवाड़ा शहर में लगाया कर्फ्यू



 



Coronavirus: जयपुर में स्वस्थ घोषित हो चुके इटली के पर्यटक की तीन दिन बाद मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज