COVID-19: उदयपुर में ग्रामीणों की सराहनीय पहल, बाहरी लोगों का गांव में प्रवेश किया बंद

कोल्यारी में युवाओं की एक टोली है जिसने कोरोना वायरस से जंग लड़ने की ठान ली है.

कोल्यारी में युवाओं की एक टोली है जिसने कोरोना वायरस से जंग लड़ने की ठान ली है.

उदयपुर जिले में कोरोना वायरस (COVID-19) से जंग लड़ने के लिए ग्रामीण अंचल के लोग पूरी तरह से तैयार हो गए हैं. शहरों के मुकाबले कुछ ऐसे भी गांव हैं जो ज्यादा सजग (Alert) नजर आ रहे हैं

  • Share this:
उदयपुर. जिले में कोरोना वायरस (COVID-19) से जंग लड़ने के लिए ग्रामीण अंचल के लोग पूरी तरह से तैयार हो गए हैं. शहरों के मुकाबले कुछ ऐसे भी गांव हैं जो ज्यादा सजग (Alert) नजर आ रहे हैं और उन्होंने अपने गांव में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित कर दिया है. इसी तरह का एक गांव है कोल्यारी जहां ग्रामीणों ने गांव में आने के सभी रास्तों को बंद कर दिया है. गांव के युवाओं की टोली ने मुख्य मार्ग पर पेंट से गांव में किसी भी व्यक्ति के प्रवेश निषेध की जानकारी अंकित कर दी है.



युवाओं ने कोरोना वायरस से जंग लड़ने की ठानी

कोल्यारी गांव में युवाओं की एक टोली है जिसने कोरोना वायरस से जंग लड़ने की ठान ली है. इसी के चलते यह निर्णय लिया गया है कि गांव में बाहरी व्यक्ति का प्रवेश तब तक वर्जित रखा जाएगा जब तक कि भारत इस जंग को जीत नहीं लेता. इसके लिए ना सिर्फ मुख्य सड़क पर पेंट से लिखवाया गया है बल्कि गांव में आने वाले अन्य कच्चे रास्तों पर भी कांटे और पत्थर बिछा दिए गए हैं. ताकि किसी भी रास्ते पर होकर बाहरी व्यक्ति गांव में प्रवेश नहीं कर सके.



ग्रामीणों में जागरुकता लाने के प्रयास भी किए जा रहे हैं
युवाओं की इस टीम ने यह संकल्प लिया है कि विश्वव्यापी महामारी को किसी भी सूरत में गांव में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा. इसके लिए ग्रामीणों में जागरुकता लाने के प्रयास भी किए जा रहे हैं. ग्रामीणों को घर से बाहर नहीं निकलने और सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति जागरुक कर कोरोना वायरस से लड़ने लिए प्रेरित किया जा रहा है.





किसी को परेशानी नहीं हो इसका भी ध्यान रखा जा रहा है

गांव के सभी रास्तों को बंद करने के साथ यह भी ध्यान रखा जा रहा है कि किसी भी व्यक्ति को लॉकडाउन की वजह से परेशानी का सामना ना करें. यदि किसी को राशन सामग्री की जरुरत हो तो उसे यही टीम घर पर ले जाकर उपलब्ध करवा रही है. कोल्यारी गांव की तस्वीर साफ बयां करती है कि शहरी इलाकों में भले ही अभी भी सड़कों पर लोगों की आवाजाही देखी जा रही हो लेकिन ग्रामीण विश्वव्यापी इस महामारी को अपने गांव से दूर रखने के लिए जी जान से जुटे हुए हैं.



COVID-19: राजस्थान से राहतभरी खबर, पॉजिटिव मामलों पर लगा ब्रेक



COVID: राज्य सरकार में स्वास्थ्य सेवाओं को छोड़ किसी को नहीं मिलेगा पूरा वेतन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज