COVID-19: उदयपुर में UK-USA के 11 पर्यटकों को छिपाया, नमस्ते हॉस्टल संचालकों पर FIR

हॉस्टल में 15 विदेशी नागरिक रुके हुए थे, लेकिन संचालकों ने केवल 4 की जानकारी दी.

हॉस्टल में 15 विदेशी नागरिक रुके हुए थे, लेकिन संचालकों ने केवल 4 की जानकारी दी.

उदयपुर (Udaipur) के घंटाघर थाना इलाके में संचालित नमस्ते हॉस्टल पर 11 विदेशी नागरिकों को बिना जानकारी दिए रुकवाने का गंभीर आरोप लगा है.

  • Share this:
उदयपुर. विश्वव्यापी कोरोना (COVID-19) महामारी के बीच प्रदेश में विदेशी नागरिकों (Foreign nationals) की जानकारी जुटाने लिए अभियान चल रहा है. इसी अभियान के तहत उदयपुर (Udaipur) के घंटाघर थाना इलाके में संचालित नमस्ते हॉस्टल पर 11 विदेशी नागरिकों को बिना जानकारी दिए रुकवाने का गंभीर आरोप लगा है. नमस्ते हॉस्टल के संचालकों पर सीआईडी की विदेश शाखा की ओर से घंटाघर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है. यह एफआईआर विदेशियों विषयक अधिनियम 1946 की धारा 7 और 14 के तहत दर्ज कराई गई है.



15 विदेशी नागरिक रुके हुए थे, केवल 4 की जानकारी दी

विदेशी नागरिकों के भारत में होने की जानकारी जुटाने को लेकर चलाए जा रहे हैं अभियान के तहत घंटाघर थाना इलाके में स्थित नमस्ते हॉस्टल में 2 अप्रेल को 15 विदेशी नागरिकों के रुकने की जानकारी मिली. जबकि हॉस्टल संचालक में सिर्फ 4 विदेशी नागरिकों की जानकारी सी-फॉर्म के मार्फत सीआईडी की विदेश शाखा को दी. अन्य पर्यटकों की जानकारी संचालक द्वारा नहीं दी गई. कोरोना महामारी के बीच विदेशी पर्यटकों की जानकारी छिपाने का यह कृत्य गंभीर आपराधिक कृत्य माना जा रहा है.



घंटाघर पुलिस ने शुरू की कार्रवाई
सीआईडी शाखा को जैसे ही इस गंभीर कृत्य की जानकारी मिली उसी के साथ उसने घंटाघर थाने में नमस्ते हॉस्टल के प्रबंधक अंकित चौधरी और लीज धारक रवि चौधरी, शारिक हुसैन और गोपाल पुरोहित के खिलाफ अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज करते हुए नियमानुसार कार्रवाई करने के लिए का पत्र दिया है. घंटाघर थाने ने भी रिपोर्ट मिलते ही एफआईआर दर्ज करते हुए अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है.





20 मार्च से पहले भारत आ चुके थे

नमस्ते हॉस्टल के संचालकों ने जिन 11 विदेशी पर्यटकों की जानकारी सी-फॉर्म के मार्फत विभाग को नहीं दी उनमें 8 पर्यटक यूके, 2 यूएसए और एक पर्यटक आयरलैंड का रहने वाला है. ये सभी पर्यटक 20 मार्च से पहले भारत आ चुके थे. घंटाघर थाना पुलिस इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई में जुटी हुई है.



बीकानेर में कोरोना वायरस का पहला शिकार, मौत के बाद सामने आई रिपोर्ट पॉजिटिव



Jaipur: कोरोना ने तोड़ दिया 15 RAS अधिकारियों का IAS बनने का सपना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज