• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • उदयपुर: कांजी का हाटा सील करने की आशंका पर लोगों ने किया जमकर हंगामा

उदयपुर: कांजी का हाटा सील करने की आशंका पर लोगों ने किया जमकर हंगामा

हंगामा करते स्थानीय लोग

हंगामा करते स्थानीय लोग

उदयपुर (Udaipur) का हॉटस्पॉट बना अंदरूनी शहर का यह इलाका 9 मई से कर्फ्यू की जद में था. यहां लगातार पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे थे.

  • Share this:
उदयपुर. राजस्थान के उदयपुर (Udaipur) में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. मई महीने में कोरोना ब्लास्ट (Corona Blast) हुआ था. हालांकि उसके बाद भी प्रशासन ने कोरोना चेन को तोड़ने में सफलता हासिल की. लेकिन एक बार फिर अंदरूनी शहर में पॉजिटिव मामले सामने आने से चिकित्सा विभाग व प्रशासनिक अधिकारियों की चिंता बढ़ने लगी है. कांजी का हाटा और हेला वाड़ी (Hela Wadi) उदयपुर का ऐसा क्षेत्र रहा जहां से संबंध रखने वाले  350 से ज्यादा मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी. इन मरीजों में कई नगर निगम के कर्मचारी भी थे.

शुक्रवार को भी कांजी के हाटा से नगर निगम के कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं. ऐसे में इस इलाके में प्रशासन ने फिर से कर्फ्यू लगाया है. एतिहात बरतते हुए प्रशासन ने कर्फ्यू ग्रस्त इलाके को बल्लिया लगाकर बंद किया, लेकिन इसी बीच क्षेत्र के लोगों में पूरे इलाके को एक बार फिर सीज करने की आशंका फैल गई. इसी आशंका के चलते सभी क्षेत्रवासी एक साथ सड़क पर उतर आए और इलाके में लगाई जा रही हैं बल्लियों को हटाने की कोशिश की. हालांकि पुलिस द्वारा समझाइश की गई और लोगों को संतुष्ट किया गया कि कर्फ्यू सिर्फ उसी क्षेत्र में लगाया गया है जिस गली में पॉजिटिव मरीज का मकान है.

अंदरूनी शहर का यह इलाका 9 मई से कर्फ्यू की जद में था
उदयपुर का हॉटस्पॉट बना अंदरूनी शहर का यह इलाका 9 मई से कर्फ्यू की जद में था. यहां लगातार पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे थे. ऐसे में इस इलाके में सबसे लंबा कर्फ्यू चला और 26 जून को यहां के लोगों को राहत मिल पाई. एक बार फिर पॉजिटिव मरीज सामने आने से क्षेत्र के लोगों में पूरे इलाके को सीज करने की आशंका हो गई, जिसके चलते सड़क पर उतर कर लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया. पहले करीब 48 दिन तक कर्फ्यू ग्रस्त इलाका रहने के चलते यहां के लोग काफी प्रभावित हुए थे और उस दौरान भी लोगों ने न सिर्फ कर्फ्यू हटवाने के लिए प्रशासन पर दबाव बनाने की कोशिश की थी बल्कि प्रतिनिधि मंडल द्वारा बैठकों का दौर भी चला था.  लेकिन प्रशासन ने किसी भी भावनात्मक दबाव में आकर निर्णय लेने से साफ मना कर दिया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज