राष्ट्रपति के हाथों उदयपुर की लब्धि को मिला राष्ट्रीय बाल पुरस्कार

ETV Rajasthan
Updated: November 14, 2017, 3:44 PM IST
राष्ट्रपति के हाथों उदयपुर की लब्धि को मिला राष्ट्रीय बाल पुरस्कार
राजस्थान की नन्ही बेटी लब्धि मंगलवार राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित हुई.
ETV Rajasthan
Updated: November 14, 2017, 3:44 PM IST
राजस्थान के उदयपुर शहर की 7 वर्षीय लब्धि  को बाल दिवस के मौके पर राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. ये पुरस्कार दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मंगलवार प्रदान किया.

लब्धि स्पीड स्केटिंग में 4 इंटरनेशनल गोल्ड सहित 62 मेडल कर जीत चुकी है. 7 साल की नन्ही उम्र में जहां सामान्य बच्चे घर में खेलने-कूदने में व्यस्त रहते हैं उसी उम्र में लब्धि दुनियाभर में ख्याति हासिल कर चुकी हैं.

खेल और उसके प्रति जुनून के चलते लब्धि को अब बड़ा सम्मान 'राष्ट्रीय बाल पुरस्कार' मिला है. डस्केटिंग स्पोर्ट्स में 62 से अधिक यानी अपनी उम्र से 9 गुना मैडल जीत चुकी लब्धि दूसरी कक्षा की स्टूडेंट है.

राष्ट्रपति भवन में हुआ सम्मान

14 नवंबर को बाल दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन दिल्ली में राष्ट्रपति लब्धि को पुरस्कार प्रदान किया गया. लब्धि को यह सम्मान 'नेशनल चाइल्ड अवॉर्ड फॉर एक्ससेप्शनल एचीवमेंट-2017' श्रेणी में दिया गया. लब्धि की उपलब्धियों में कई इंटरनेशनल, नेशनल और स्टेट लेवल के मेडल शामिल हैं. वो फिलहाल ओलिंपिक-2024 की तैयारियों में जी-जान से जुटी है. लब्धि के माता-पिता अंजली और कपिल का दावा है कि स्पोर्ट्स में यह सम्मान पाने वाली लब्धि राज्य की सबसे कम उम्र की बच्ची है.

Labdhi Surana

टेनिस सीखने आई थी लब्धि, स्केटिंग में महारथ हासिल

लब्धि के पिता कपिल ने बताया कि जब वह पौने तीन साल की थी तो उसे टेनिस सिखाने के लिए टेनिस एकेडमी ले गए थे. जहां कोच ने कहा कि टेनिस खेलने के लिए बच्ची के पैर और थाई मजबूत होने जरूरी हैं. दौड़ के लिए लब्धि को पहले स्केटिंग का प्रशिक्षण दिलवाया गया. लेकिन टेनिस सीखने आई लब्धि का स्केटिंग में परफॉर्म देख कोच ने उसे इसी गेम में रखा और तब से वह लगातार मेडल पर मेडल जीत रही है.

Labdhi Surana

हर दिन 4 घंटे करती है प्रेक्टिस

लब्धि के कोच मंजीत सिंह गहलोत और पुष्पेद्र सिंह ने बताया कि वह सुबह-शाम हर दिन दो घंटे प्रेक्टिस करती है. रॉकवुड्स स्कूल में दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली लब्धि के स्कूल निदेशक दीपक शर्मा ने बताया कि लब्धि पढ़ाई में भी किसी से पीछे नहीं है. वह अपने क्लास में टॉपरों में होती है.

Labdhi Surana

ये है उपलब्धियां
- हांग-कांग में हुई स्पीड चैंपियनशिप 2016 में 2 ब्रॉन्ज
-नेशनल स्केटिंग में 6 गोल्ड, 1 सिल्वर
-स्टेट और जिला लेवल में 45 से अधिक मेडल
- जर्मनी में हुए अंतरराष्ट्रीय यूरोप कप में 1 गोल्ड, 1 ब्रॉन्ज
- बेल्जियम में हुई रेको रोलर इंटरनेशनल चैंपियनशिप 2016 में 3 गोल्ड, 1 सिल्वर
- ये अवॉर्ड भी... 25 ट्रॉफियां, महाराणा फतह सिंह अवार्ड-2017, शक्ति अवॉर्ड-2017
- नेशनल चाइल्ड अवॉर्ड फॉर एक्ससेप्शनल श्रेणी में चयन
First published: November 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर