होम /न्यूज /राजस्थान /Navratra 2022: उदयपुर के इस दुकान में नवरात्र में ग्राहकों की खूब लगती है भीड़, जानें वजह

Navratra 2022: उदयपुर के इस दुकान में नवरात्र में ग्राहकों की खूब लगती है भीड़, जानें वजह

उदयपुर शहर के जगदीश चौक पर स्थित अरोड़ा मिष्ठान लगभग 75 वर्ष पुरानी है. यहां पिछले पचास वर्ष से नवरात्र उपवास के व्यजनो ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    निशा राठौड़

    उदयपुर. शारदीय नवरात्र पर देवी के नौ स्वरूपों की आराधना की जाती है. बहुत से श्रद्धालु अपने घर में नौ दिन के लिए अखंड ज्योत जलाते हैं. तो बहुत से कलश में जवार उगाते हैं. घर में धार्मिक माहौल होने से सकारात्मक उर्जा का प्रवाह होने लगता है. इसके अलावा भक्त पूरी श्रद्धा के साथ व्रत रखते हैं. इसमें अधिकतर भक्त फलाहार लेते हैं. आज हम आपको राजस्थान के उदयपुर में मिलने वाली उपवास में प्रयोग किए जाने वाले व्यजनों के बारे में बताते हैं.

    उदयपुर शहर के जगदीश चौक पर स्थित अरोड़ा मिष्ठान लगभग 75 वर्ष पुरानी है. यहां पिछले पचास वर्ष से नवरात्र उपवास के व्यजनों को पूरी तन्मयता से बनाए जाते हैं जिसे शहरवासी ही नहीं बाहर से यहां आने वाले पर्यटक भी खासा पसंद करते हैं. यहां सेगारी व्यंजन पूरी शुद्धता के साथ बनाए जाते हैं. अरोड़ा मिष्ठान के संचालक विष्णु अरोड़ा ने बताया कि हमारे यहां फलाहारी के सभी प्रकार के व्यंजन उपलब्ध हैं.

    उपवास में उपयोग किये जाने वाले खास व्यंजन

    विष्णु अरोड़ा ने बताया कि मुख्य रूप से जो व्यंजन पसंद किए जाते हैं उनमें कागणी के पकोड़े, आलू की सब्जी, पूरी, साबुदाने की खिचड़ी, सेगारी हलवा के साथ नमकीन, आलू नमकीन, मूंगफली, फ्राई साबुदाना, मिक्स ड्राई फ्रूट नमकीन को खास तौर पर पसंद किया जाता है. उन्होंने बताया कि उनके यहां उपवास खाद्य सामग्री केवल नवरात्र ही नहीं बल्कि अन्य उपवास निर्जला एकदाशी, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, पूर्णिमा, रामनवमी समेत सभी व्रत व उपवास पर उपलब्ध रहते हैं.

    दुकान पर आए ग्राहक निर्मल जैन ने बताया कि वो पिछले लगभग 20 वर्षों से यहां आते हैं. आज भी वो यहां की बनी उपवास खाद्य सामग्री को लेने आए हैं. इसके लिए वो अपने घर से करीब 10 किलोमीटर की दूरी तय कर आते हैं. यहां पर मिलने वाली मिठाइयों में वो मुख्य रूप से गुलाब पाशा देवी के भोग के लिए ले जाते हैं. साथ ही परिवार के सदस्यों की पसंद सेगारी व्यंजन हमेशा यहीं से ले जाते हैं.

    Tags: Navratri, Navratri festival, Rajasthan news in hindi, Udaipur news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें