Home /News /rajasthan /

कोरोना वैक्सीन का झांसा देकर कर डाली युवक की 'नसबंदी', परिवार का इकलौता बेटा है पीड़ित

कोरोना वैक्सीन का झांसा देकर कर डाली युवक की 'नसबंदी', परिवार का इकलौता बेटा है पीड़ित

Udaipur News: पीड़ित कैलाश अपने परिवार का इकलौता बेटा है. संतान नहीं होने के चलते पीड़ित की मां भी परेशान.

Udaipur News: पीड़ित कैलाश अपने परिवार का इकलौता बेटा है. संतान नहीं होने के चलते पीड़ित की मां भी परेशान.

Udaipur latest news: राजस्थान के उदयपुर में कोरोना वैक्सीन का झांसा देकर एक युवक की नसबंदी (Sterilization) कर देने का मामला सामने आया है. पीड़ित युवक ने इस संंबंध में भूपालपुरा थाने में मामला दर्ज कराया है. पीड़ित का आरोप है कि उसे कोरोना का टीका लगवाने के लिये 2000 रुपये का लालच दिया गया था. उसे इंजेक्शन देकर बेहोश कर दिया गया. होश आया तो पता चला की उसकी नसबंदी कर दी गई है.

अधिक पढ़ें ...

उदयपुर. लेकसिटी उदयपुर में एक युवक की नसबंदी (Sterilization) का अजीब मामला सामने आया है. युवक ने आरोप लगाया कि उसे कोरोना टीका (Corona vaccine) लगवाने का झांसा देकर बुलाया गया था. बाद में उसकी जानकारी के बिना उसकी नसबंदी कर दी गई. इस युवक ने भूपालपुरा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है. उसके बाद पुलिस जांच में जुट गई है. बताया जा रहा है कि यह युवक शादीशुदा है लेकिन निसंतान है. युवक ने आरोप लगाया कि हॉस्पिटल में उसे इंजेक्शन लगाया था. उसके बाद क्या हुआ उसे कुछ भी पता नहीं है. होश में आने के बाद पता चला कि उसकी नसबंदी हो गई.

मामला उदयपुर शहर के भूपालपुरा थाना इलाके से जुड़ा है. पीड़ित युवक का नाम कैलाश गमेती है. भूपालपुरा थाने में दी गई रिपोर्ट में कैलाश ने बताया कि 29 दिसंबर की सुबह वह मजदूरी के लिए बेकनी पुलिया के पास खड़ा था. उसी दौरान नरेश रावत नाम का एक युवक उसके पास आया. उसने उसे रुपये 2000 का लालच देकर कोरोना का टीका लगवाने की बात कही.

दो हजार रुपये का लालच दिया, दिये 1100 रुपये
दो हजार रुपये के लालच वह उसके साथ चला गया. कैलाश का आरोप है कि नरेश उसे स्कूटी पर पुल की ओर एक हॉस्पिटल में ले गया. वहां इंजेक्शन लगाकर उसे बेहोश कर दिया गया. बाद में उसका नसबंदी का ऑपरेशन कर दिया गया. उसके बाद नरेश ने कैलाश को उसकी बहन के घर छोड़ दिया और 1100 रुपये दे दिए.

कैलाश अपने परिवार में एक इकलौता बेटा है
नसबंदी का ऑपरेशन होने के बाद युवक और उसके परिवार के सदस्य काफी परेशान हैं. प्रारंभिक जांच में सामने आया कि पीड़ित कैलाश अपने परिवार में एक इकलौता बेटा है. उसकी कोई संतान नहीं होने के चलते पीड़ित की मां भी काफी परेशान है. दूसरी और भूपालपुरा थाना पुलिस ने कैलाश गमेती की रिपोर्ट पर एससी-एसटी एक्ट में भी मामला दर्ज किया है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

जांच के बाद ही सामने आ पायेगी सच्चाई
कैलाश की आरोपों में कितनी सच्चाई है यह तो जांच के बाद ही सामने आ पायेगा. लेकिन नसबंदी के आंकड़े पूरे करने के लिये लोगों को झांसे देने के कई मामले पहले भी सामने आ चुके हैं. वहीं नसंबदी के शिविरों में भी अनियमितता की कई शिकायतें आ चुकी हैं.

Tags: Rajasthan latest news, Rajasthan News Update, Udaipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर