अपना शहर चुनें

States

Rajasthan News: सतीश पूनिया का दावा- जल्द हो सकते हैं मध्यावधि चुनाव, कोरोना की वजह से बची है सरकार

राजस्‍थान भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने राज्‍य सरकार की कार्यशैली पर भी तंज कसा है.
राजस्‍थान भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने राज्‍य सरकार की कार्यशैली पर भी तंज कसा है.

Udaipur News: राजस्थान सरकार पर निशाना साधते हुए BJP के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने कहा कि यदि कोरोना नहीं होता तो प्रदेश की गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Govt) जन आंदोलन से ही चली जाती. क्योंकि इस सरकार में भारी अंतर्कलह है.

  • Last Updated: January 23, 2021, 10:32 AM IST
  • Share this:
उदयपुर. राजस्थान भाजपा (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) मेवाड़ अंचल के दौरे पर हैं. इस दौरान वह उदयपुर पहुंचे, जहां पर उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में न सिर्फ गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधा, बल्कि राजस्थान में जल्द ही मध्यावधि चुनाव की संभावनाएं भी जता दी. सतीश पूनिया का कहना है कि राजस्थान कांग्रेस में अंतर्कलह चरम पर है, और जैसे ही मंत्रिमंडल का विस्तार होगा उसके बाद यह कलह और बढ़ेगी. इससे मध्यावधि चुनाव की संभावनाएं भी प्रबल होंगी.

सतीश पूनिया ने गहलोत सरकार के 2 वर्ष से अधिक के कार्यकाल को पूरी तरह से विफल बताया. प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि राज्य सरकार चुनावी दौर में किए गए अपने एक भी वायदे पर खरी नहीं उतरी है और इसका खामियाजा पिछले पंचायत चुनाव में कांग्रेस को भुगतना पड़ा है. यही नहीं आने वाले निकाय चुनाव में भी भाजपा अच्छा प्रदर्शन. करेगी और जनता कांग्रेस की वादाखिलाफी का जवाब वोट के माध्यम से देगी. सतीश पूनिया ने आगामी 4 विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की जीत का भी दावा किया.

सतीश पूनिया ने भाजपा में अंतर कलह की बातों पर भी खुलकर प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि किसी भी संगठन में नेता और कार्यकर्ताओं में गुटबाजी ना हो यह संभव नहीं है. टिकट वितरण के दौरान यदि किसी को टिकट नहीं मिलता है तो वह दूसरे पर जरूर आरोप-प्रत्यारोप लगाता है. दूसरी ओर प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं में गुटबाजी की बातों को सोशल मीडिया की उपज बताया. उन्होंने कहा कि राजस्थान में भाजपा की सरकार होगी, यहां किसी व्यक्ति विशेष की सरकार नहीं होती है.



गहलोत सरकार पर साधा निशाना
राजस्थान सरकार पर निशाना साधते हुए BJP के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि यदि कोरोना नहीं होता तो प्रदेश की गहलोत सरकार जन आंदोलन से ही चली जाती. क्योंकि इस सरकार के भीतर अंतर कलह है, जिससे अब जनता परेशान हैं। पुनिया ने मंत्रिमंडल विस्तार के बाद विवाद और बढ़ने की बात कही और प्रदेश में जल्द मध्यावधि चुनाव होने की संभावना जताई.

उदयपुर आने पर सतीश पुनिया ने दिवंगत विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत के भिंडर स्थित पैतृक निवास पर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की और परिजनों को हिम्मत दिलाई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज