तस्करों ने साथी की गर्दन तोड़कर कर दी हत्या, गाड़ी में शव डालकर घूमते हुए गिरफ्तार

जोधपुर के दो तस्करों ने विवाद के बाद चित्तौडगढ़ के साथी तस्कर की गर्दन तोड़कर हत्या कर दी और गाड़ी में शव डालकर घूमते रहे. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.

News18 Rajasthan
Updated: July 26, 2019, 4:32 PM IST
तस्करों ने साथी की गर्दन तोड़कर कर दी हत्या, गाड़ी में शव डालकर घूमते हुए गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Rajasthan
Updated: July 26, 2019, 4:32 PM IST
जोधपुर के दो तस्करों ने पैसों की लेन-देन को लेकर हुए विवाद के बाद चित्तौडगढ़ के एक साथी तस्कर की गर्दन की हड्डी तोड़कर गाड़ी में हत्या कर दी. उसके बाद उसे गाड़ी में लेकर इधर-उधर घूमते रहे. जब वे एक ढाबे पर खाना खाने रुके तो बिना नम्बर वाली गाड़ी और उनके हाव-भाव को देखकर वहां के कर्मचारी को शक हुआ. उसने पुलिस को सूचना दे दी. पुलिस मौके पर पहुंची तो दोनों वहां से भाग गए. पुलिस ने बाद में दोनों को पकड़ लिया. पुलिस ने मृत तस्कर भैरूलाल के बेटे कन्हैयालाल की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज किया. भैरूलाल चित्तौडगढ़ सदर थाना क्षेत्र के देवर का रहने वाला था. पुलिस ने जोधपुर के धवा झंवर निवासी तस्कर श्यामलाल व देवाराम को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है.

डोडा-चूरा की तस्करी में थे लिप्त 
कन्हैयालाल ने पुलिस को बताया कि उसके पिता भैरूलाल 2-3 माह से कभी-कभार ही घर आ रहे थे. पुलिस का कहना है कि दोनों व भैरूलाल डोडा-चूरा की तस्करी में लिप्त थे. पैसे देने के बावजूद माल नहीं मिलने पर दोनों ने रात को भैरूलाल को छोटी सादड़ी क्षेत्र से अपने साथ लिया. रास्ते में पैसे को लेकर विवाद हुआ. धरियावद के पास किसी एक आरोपी ने अपने बाजूओं से कसकर भैरूलाल की गर्दन को दबा दिया जिससे उसके गर्दन की हड्डी टूट गई और मौके पर ही उसकी मौत हो गई. आरोपी उसे गाड़ी की सीट पर डालकर इधर-उधर घूमाते रहे. देर रात वे डबोक में कुवारिया माइंस पर एक ढाबे पर रुके तो शक होने पर कर्मचारी ने पुलिस को सूचना दे दी. पुलिस को देखते ही आरोपी वहां से भाग गए. पुलिस ने पीछा कर एक आरोपी को पकड़ लिया.

हर टोल पर बदल देते थे गाड़ी का नंबर 

पुलिस ने गाड़ी की तलाशी ली तो उसमें भैरूलाल का शव मिला. रात को ही पुलिस ने घेराबंदी कर दूसरे आरोपी को भी धर दबोचा. आरोपी हर टोल नाके पर गाड़ी के नम्बर अलग-अलग लिखवाकर आगे बढ़ते रहे. गाड़ी की तलाशी में उन्हें कई नम्बर प्लेट व कई सारी टोल की पर्चियां मिली. हर पर्ची पर उन्होंने गाड़ी के अलग-अलग नम्बर लिखवा रखे थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उदयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 26, 2019, 4:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...