Home /News /rajasthan /

दूसरा पहलू: उदयपुर सेंट्रल जेल के कैदियों ने सुर-ताल को बनाया हमसफर, वीडियो एलबम किया लॉन्च

दूसरा पहलू: उदयपुर सेंट्रल जेल के कैदियों ने सुर-ताल को बनाया हमसफर, वीडियो एलबम किया लॉन्च

कैदी जनरैल सिंह, सुनील, संजय, चैनसुख, बालकृष्ण, रवि और शिवलाल ने अपना संगीत बैंड बनाया है.

कैदी जनरैल सिंह, सुनील, संजय, चैनसुख, बालकृष्ण, रवि और शिवलाल ने अपना संगीत बैंड बनाया है.

कहते हैं जैसा आप बोएंगे, वैसा ही आप काटेंगे. जिन्दगी (Life) की परिभाषा भी इसी आधार से तय होती है. आपने कुछ गलत किया तो उसकी सजा आपको भुगतनी पड़ेगी, लेकिन कुछ अच्छा किया तो उसकी खुशबू कई और जिन्दगियों को महकाने का काम करेगी.

उदयपुर. कहते हैं जैसा आप बोएंगे, वैसा ही आप काटेंगे. जिन्दगी (Life) की परिभाषा भी इसी आधार से तय होती है. आपने कुछ गलत किया तो उसकी सजा आपको भुगतनी पड़ेगी, लेकिन कुछ अच्छा किया तो उसकी खुशबू कई और जिन्दगियों को महकाने का काम करेगी. उदयपुर (Udaipur) की सेन्ट्रल जेल में बंद कुछ कैदियों (Prisoners) ने ऐसी ही सुगंध को फैलाने का संकल्प साधा है. उन्होंने अपने अंदर छिपी प्रतिभा को आवाज लगाई और सुर-ताल को हमसफर बना लिया. कैदियों ने अपने हुनर से सबका दिल ऐसे जीता कि जल्द उनकी कला को पूरी दुनिया देखेगी.

सकारात्मक सोच से अच्छी राह को खोजा जा सकता है
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उदयपुर, एम. स्क्वायर प्रोडक्शन एण्ड इवेन्ट्स और आर्या फिल्म्स ने न्यायाधीश रिद्धिमा शर्मा के मागदर्शन में कैदियों के गीतों का वीडियो एलबम तैयार किया है. इस एलबम को मंगलवार को लॉन्च किया गया है. इस एलबम के जरिये कैदियों ने यह साबित करने का प्रयास किया है कि लोहे की सलाखों के पीछे भी सकारात्मक सोच से अच्छी राह को खोजा जा सकता है.

अवसर मिले तो कैदी भी बहुत कुछ बेहतर कर सकते हैं
एम. स्क्वायर के मुकेश माधवानी ने बताया कि कैदियों का नाम आते ही हम उसे अपराधी के रूप में देखते हैं और दिमाग में उसका कुछ अलग सा चित्रण करने लग जाते हैं. लेकिन हम उसके भीतर छिपी कला को नजरअन्दाज करते चले जाते हैं जिससे वह स्वयं को कुण्ठित महसूस करने लगता है. यदि उन्हें मौका मिले तो वे भी आप और हमारी तरह बेहतर कर सकते हैं.

हुनर को सामने लाने का प्रयास
उदयपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की न्यायाधीश रिद्धिमा शर्मा ने बताया कि जेल में अपराध से परे इन कैदियों की भी अपनी दुनिया है, जिसमें इनका परिवार होता है. वे अपना शेष जीवन अच्छे से बिताएं इसके लिए हम निरंतर प्रयास करते हैं. क्योंकि हर व्यक्ति को प्रकृति से विशेष योग्यता मिली है. यहां केन्द्रीय कारागृह में कई अपराधी हैं जो अपने हुनर लोहा मनवा सकते हैं. यह प्रयास उसी हुनर को सामने लाने का काम कर रहा है.

इन छह कैदियों ने बनाया है एलबम
जेल अधीक्षक सुरेंद्रसिंह शेखावत के सहयोग से जेल बंदी जनरैल सिंह, सुनील, संजय, चैनसुख, बालकृष्ण, रवि और शिवलाल ने अपना संगीत बैंड बनाया है. इस बैंड ने अपना विशेष वीडियो एलबम भी बनाया है. इसका पहला गीता अब सबके सामने आएगा. इसका निर्देशन आर्या फिल्म्स के मुकेश डांगी ने किया है तो छायांकन अमनदीप सिंह व पंजाब के राजू कुमार ने किया है.

COVID-19: जयपुर में नहीं थम रही पॉजिटिव मरीजों की रफ्तार, आज फिर 23 नए केस आए

Lockdown: सीकर में अनोखी शादी, बाइक पर आया दूल्हा और दुल्हन को ले गया

Tags: Rajasthan news, Udaipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर