Udaipur Gangrape Case: रेलवे ट्रैक पर किया गया था रेप, पीड़िता ने बयानों में बयां की 'दरिंदगी' की कहानी

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र

उदयपुर ( Udaipur) शहर के गोवर्धन विलास थाना इलाके में रविवार को अपहरण (Kidnapped) कर ले जाई गई पीड़िता से 2 आरोपियों ने रेलवे ट्रैक (Railway track) पर गैंगरेप (Gangrape) किया था. पीड़िता के मंगलवार को मजिस्ट्रेट (Magistrate) के समक्ष धारा-164 के बयान कराये गये.

  • Share this:
उदयपुर. शहर के गोवर्धन विलास थाना इलाके में रविवार को अपहरण (Kidnapped) कर ले जाई गई पीड़िता से 2 आरोपियों ने रेलवे ट्रैक (Railway track) पर गैंगरेप (Gangrape) किया था. पीड़िता के मंगलवार को मजिस्ट्रेट (Magistrate) के समक्ष धारा-164 के बयान कराये गये. अनुसंधान अधिकारी चेतना भाटी पीड़िता के साथ बयान कराने कोर्ट पहुंची. वहां पीड़िता ने मजिस्ट्रेट के समक्ष दरिंदगी की पूरी कहानी बयां की. इससे पहले पुलिस (Police) ने पीड़िता और उसके पुरुष साथी से अलग-अलग बातकर वास्तविक कहानी को समझने की कोशिश की.



पीड़िता और उसका साथी पूरी रात आरोपियों के कब्जे में रहे

पीड़िता एक इवेंट कंपनी में काम करती है. रविवार रात को गोवर्धन विलास थाना इलाके से बंदूक की नोक पर उसका अपहरण किया गया था. उस दौरान उसका पुरुष साथी भी मौजूद था. आरोपियों ने पीड़िता का अपहरण करने के बाद उसकी इवेंट कंपनी के मालिक को फिरौती की राशि के लिये फोन किया था. पीड़िता और उसका साथी पूरी रात आरोपियों के कब्जे में रहे. इस दौरान वे इवेंट कंपनी के मालिक के भी संपर्क में रहे. लेकिन उसने पुलिस को इसकी सूचना नहीं दी.



पुलिस ने कुछ आरोपियों को डिटेन किया
बताया जा रहा है कि आरोपी पीड़िता को कार से देबारी इलाके में स्थित रेलवे ट्रेक पर ले गये. वहां दो युवकों ने उसके साथ रेप किया गया और फिर उसे सोमवार को ठोकर चौराहे के समीप छोड़ दिया. पुलिस ने पीड़िता के बयानों के आधार पर ही अपनी जांच आगे बढ़ाना शुरू की है. आरोपियों को नामजद कर लिया गया है. पुलिस ने कुछ आरोपियों को डिटेन कर लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है. वहीं अन्य की तलाश की जा रही है.





इवेंट कंपनी के मालिक की भूमिका भी इसमें संदिग्ध

एसपी कैलाश चन्द्र बिश्नोई ने बताया कि मामला संगीन है. पीड़िता के बयानों के आधार पर ही जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है. इस पूरे मामले में इवेंट कंपनी के मालिक की भूमिका भी इसमें संदिग्ध रही है. पुलिस के पास वारदात की जानकारी 16-17 घंटे देरी से सोमवार को दोपहर के बाद पहुंची. तब तक आरोपियों को भागने का मौका मिल गया. आरोपियों ने जब पीड़िता और उसके साथी को छोड़ दिया तब भी इवेंट कंपनी के मालिक ने उन्हें पुलिस के पास जाने से रोका. पीड़िता ने पहले 6 आरोपियों द्वारा रेप करने की बात बताई थी, लेकिन पुलिस की जांच में दो आरोपियों द्वारा रेप करना सामने आया है.



 



यूथ कांग्रेस: 7 साल बाद मिला नया प्रदेशाध्यक्ष, देखें किसको कितने मिले वोट



 



स्पीकर की सख्ती से मुश्किल में 'मंत्रीगण', आज ये 3 मंत्री जवाब देते हुए फंसे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज