उदयपुर: बाइक के क्लच वायर से बने फंदे में फंसने से पैंथर की मौत ! वन विभाग जुटा जांच में

पैंथर की मौत किसी दूसरे स्थान पर हुई है. उसके बाद 
पैंथर के शव को वहां लाकर फेंका गया है.

पैंथर की मौत किसी दूसरे स्थान पर हुई है. उसके बाद पैंथर के शव को वहां लाकर फेंका गया है.

उदयपुर (Udaipur) जिले की कुराबड़ वन रेंज (Kurabad Forest Range) में रविवार को एक नर पैंथर (Male panther) का शव मिला है. प्रथमदृष्टया माना जा रहा है कि पैंथर की मौत बाइक के क्लच वायर (Clutch wire) से बने फंदे में फंसने से हुई है.

  • Share this:
उदयपुर. जिले की कुराबड़ वन रेंज (Kurabad Forest Range) में रविवार को एक नर पैंथर (Male panther) का शव मिला है. प्रथमदृष्टया माना जा रहा है कि पैंथर की मौत बाइक के क्लच वायर (Clutch wire) से बने फंदे में फंसने से हुई है. वन विभाग (Forest department) के अधिकारियों ने पैंथर के शव को सुरक्षित रखवाया है. पोस्टमार्टम (Post mortem) के बाद मौत के वास्तविक कारणों का खुलासा होगा.



कुराबड़ वन रेंज में पड़ा मिला है शव

जानकारी के अनुसार पैंथर का शव कुराबड़ वन रेंज में जगत की ढाणी गांव के पास पड़ा मिला है. ग्रामीणों ने इसकी जानकारी वन विभाग को दी. इस पर क्षेत्रीय वन अधिकारी विजेंद्र सिंह सहित अन्य वनकर्मी मौके पर पहुंचे. शव को देखने के बाद विभाग के अधिकारियों ने आशंका जताई है कि बाइक के क्लच वायर से बने फंदे में फंसने से पैंथर की मौत हुई है. घटनास्थल के अलामात देखने के बाद विभाग के अधिकारियों ने इस बात की भी आशंका जताई है कि पैंथर की मौत किसी दूसरे स्थान पर हुई है. उसके बाद पैंथर के शव को वहां लाकर फेंका गया है.



शव को दूसरी जगह से लाकर फेंका गया है
प्राथमिक जांच पड़ताल में सामने आया है कि इस क्षेत्र में जंगली सूअर और नीलगाय का काफी आतंक है. ये खेतों में फसलों को काफी नुकसान पहुंचाते हैं. हो सकता है किसानों ने उनसे अपनी फसल का बचाव करने के लिए फंदा लगाया हो और उसमें पैंथर फंस गया, जिससे उसकी मौत हो गई. अनुमान लगाया जा रहा है कि संभवतया किसान इससे डर गए और उन्होंने पैंथर के शव को यहां लाकर फेंक दिया. विभाग सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच में जुटा है.





यहां शिकारियों के सक्रिय रहने की बात भी आती रही है

उल्लेखनीय है कि उदयपुर के आसपास के वन क्षेत्रों में पैंथर की संख्या काफी ज्यादा है. यहां आए दिन रिहायशी इलाकों में भी पैंथर का खौफ देखा जाता है. दूसरी ओर इस इलाके में कई शिकारियों के सक्रिय रहने की बात भी हमेशा सामने आती रही है. वन विभाग अपनी जांच में इस पहलू की भी पड़ताल करेगा कि कहीं यह फंदा शिकारियों द्वारा तो नहीं लगाया गया था.



 



स्कूल से आ रही शिक्षिका को बदमाशों ने बीच सड़क पर तलवार से काट डाला, मौत



 



चूरू: 11वीं की छात्रा से चलती कार में रेप, चालक गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज