Home /News /rajasthan /

udaipur tailor killing case total 4 knife made by accused to behead kanhaiya lal sahu chilling facts surfaced nodps

उदयपुर हत्याकांड: हत्यारों ने बनवाए थे 4 खंजर, हत्या के लिए तैयार था फुलप्रूफ बैकअप प्लान

पुलिस की हत्यारों से पूछताछ में यह जानकारी मिली है कि ये दोनों हत्यारे कानपुर में छुपना चाहते थे.

पुलिस की हत्यारों से पूछताछ में यह जानकारी मिली है कि ये दोनों हत्यारे कानपुर में छुपना चाहते थे.

उदयपुर हत्याकांड की धमक देश के ज्यादातर हिस्सों में सुनाई दे रही है. इस मामले की जांच कर रही एनआईए पुलिस रोजाना नए खुलासे कर रही है. हालांकि कई नए सवाल भी सामने आए हैं. आरोपियों से पूछताछ में जानकारी मिली है कि हत्यारों ने जो खंजर अपने वीडियो में दिखाया ऐसे ही 2 खंजर और बनवाए थे. अब नए खुलासों के साथ नए सवाल भी उठने लगे हैं. एक सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि आरोपियों का वीडियो किसने शूट किया था. हत्या के पीछे कौन लोग हैं जिन्होंने इसकी साजिश रची थी.

अधिक पढ़ें ...

उदयपुर. उदयपुर हत्याकांड की जांच जैसे जैसे आगे बढ़ रही है हर रोज़ नए नए और बेहद चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं. हत्यारे गिफ्तार हो चुके हैं और उनसे पुलिस की पूछताछ लगातार जारी है जिसमें हर रोज़ नई नई बातें सामने आ रही हैं. कुछ ऐसे ही नए सवाल सामने आए हैं जिन्होंने सभी को चौंका दिया है. पुलिस की पूछताछ में ये खुलासा हुआ है कि जिस तरह के खतरनाक खंजर ये दोनों हत्यारे वीडियो में दिखा रहे हैं ठीक वैसे ही दो खंजर और बनाए गए थे. आखिर दोनों हत्यारों ने हत्या करने के बाद जो वीडियो बनाया गया… उसको शूट कौन कर रहा था ? आखिर कौन था जो वीडियो बनाने में इन हत्यारों की मदद कर रहा था? इन सवालों के जवाब पुलिस तलाश रही है.

पुलिस की तलाशी में हत्यारों के पास एक पेन ड्राइव मिली है जिसमें जाकिर नाइक की तस्वीर मिली है ? तो क्या ये हत्यारे जाकिर नायक से प्रभावित थे और जाकिर नायक के भाषणों से इनका ब्रेन वॉश हुआ. इस सवाल पर भी जांच आगे बढ़ रही है.

हत्या कर अजमेर भागना चाहते थे हत्यारे

पुलिस की पूछताछ में जो बात सामने आ रही है उसके मुताबिक ये दोनों हत्यारे पहले उदयपुर से 260 किलोमीटर दूर अजमेर जाना चाह रहे थे. पुलिस की पूछताछ में ये जानकारी मिली है कि अगरइन दोनों की गिरफ्तारी नहीं होती तो इन हत्यारों का प्लैन अजमेर के बाद अज़मेर से 645 किलोमीटर दूर कानपुर जाने का था. पुलिस ने हत्यारों से पूछताछ की है जिसके बाद जानकारी ये मिली है कि ये दोनों हत्यारे कानपुर में छुपना चाहते थे.

सवाल ये है क्या दावते इस्लामी की जड़ें जिस तरह कानपुर में गहरी जमी हुई हैं. क्या कानपुर में दावते इस्लामी की मदद से ही इन हत्यारों ने छुपने का कोई प्लान बनाया था? जांच में ये एंगल भी अहम हो सकता है. रियाज़ के पास जो बाइक मिली थी उसका नंबर तो 26-11 था ही, अब एक और स्कूटी भी सामने आई है जिसका मालिक गौस मोहम्मद है और उसके नंबर में भी 26 नंबर मौजूद है. खास बात ये है कि बाइक और स्कूटी एक साथ एक ही साल में यानी साल 2013 में खरीदने की बात भी सामने आ रही है.

स्कूटी के मालिक की तलाश भी जारी

पुलिस इन्वेस्टिगेशन में पता चला है कि कन्हैया लाल की हत्या में ये स्कूटी भी इस्तेमाल हुई है और हत्या के बाद ये स्कूटी 4 दिनों तक घटनास्थल के पास ही मौजूद रही. जब इस लावारिस स्कूटी के मालिक की तलाश शुरू हुई तो पता चला कि ये स्कूटी गौस मोहम्मद की है.

हत्या करने के लिए फुल प्रूफ बैक अप प्लैन भी तैयार किया गया था. रियाज और गौस मोहम्मद ने पूछताछ में बताया है कि उनको शक था कि अगर वो दोनों कन्हैयालाल की हत्या को अंजाम नहीं दे पाते हैं तो इसके लिए दो और लोगों को भी जिम्मा दिया गया था. ये दो लोग कौन थे?

हत्या के लिए बनवाए थे स्पेशल खंजर
पुलिस की इन्वेस्टिगेशन में ये खुलासा हुआ है कि आसिफ़ और मोहसिन नाम के दो और लोग भी हत्या के लिए 2 और खंजर लिए हुए थे. प्लैन ये था कि अगर रियाज़ और गौस मोहम्मद हत्या करने में असफल हो जाते हैं तो आसिफ़ और मोहसिन हत्या का जिम्मा उठाएंगे. पुलिस की पूछताछ में ये पता चला है कि रियाज और गौस मोहम्मद हत्या के वक्त की परिस्थितियों के हिसाब से प्लैनिंग कर रहे थे. उन्होंने प्लैन किया था कि अगर आसपास के लोग इकट्ठा हो जाते हैं और उनको हत्या से रोका जाता है तो तुरंत वैसे ही कराची वाले खंजर से हत्या करने का जिम्मा फिर आसिफ और मोहसिन का होगा.

पुलिस की पूछताछ में ये भी खुलासा हुआ है कि इन दोनों यानी आसिफ और मोहसिन ने भी खंजर लिया हुआ था. यानी कुल मिलाकर चार खंजर कन्हैया की हत्या के लिए बनाए गए थे. दो खंजर रियाज और गौस मोहम्मद के पास था और दो खंजर आसिफ और मोहसिन के पास थे.

Tags: Rajasthan news, Udaipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर