रोजगार को लेकर सरकार के दावों पर सवाल, आकड़ों में नौकरियों की बाढ़

जयपुर में बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव का कहना है कि प्रदेश में 1 लाख से ज्यादा भर्तियां लंबित हैं और बीजेपी के कद्दावर नेता खुद अपने भाषणों और साक्षात्कार में अलग-अलग आंकड़े प्रस्तुत करते हैं.

Mahesh Dadhich | News18 Rajasthan
Updated: November 11, 2018, 8:10 AM IST
रोजगार को लेकर सरकार के दावों पर सवाल, आकड़ों में नौकरियों की बाढ़
प्रदेश के बेरोजगारों ने सरकार पर उठाए सवाल
Mahesh Dadhich | News18 Rajasthan
Updated: November 11, 2018, 8:10 AM IST
राजस्थान के जयपुर में सरकार के नौकरियां देने के वादों को लेकर बेरोजगार एकीकृत महासंघ के उपेन यादव ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं.रोजगार एकीकृत महासंघ  के मुुताबिक  2013 राजस्थान विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने सत्ता में आने से पहले युवाओं को लुभाने के लिए 15 लाख नौकरियां देने का वादा किया था. वहीं, अब बीजेपी का दावा है कि उन्होंने 15 नहीं बल्कि 44 लाख से ज्यादा लोगों को नौकरियां दी हैं. ये दावा बीजेपी के आफिशियल ट्विटर पर किया गया है. इस ट्वीट के साथ ही प्रदेश के युवाओं ने रिट्वीट करने शुरू कर दिए. जिसमें बीजेपी के इस दावे पर जमकर चुटकी ली जा रही हैं. सोशल साइट के साथ ही प्रदेश के बेरोजगारों ने भी बीजेपी के इस दावे के खिलाफ कड़ा विरोध प्रकट किया हैं.

जयपुर में बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव का कहना है कि प्रदेश में 1 लाख से ज्यादा भर्तियां लंबित हैं और बीजेपी के कद्दावर नेता खुद अपने भाषणों और साक्षात्कार में अलग-अलग आंकड़े प्रस्तुत करते हैं. राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के मुताबिक उनकी सरकार ने  26 लाख नौकरियां दी तो वहीं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष कहते हैं 35 लाख, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अपने साक्षात्कार में 60 लाख नौकरियां देने का दावा करती हैं और इन सब से हटके बीजेपी के आफिशियल ट्वीटर पर सरकार कर 44 लाख नौकरियां देने का दावा कर रही है. बेरोजगार महासंघ का कहना है कि बीजेपी सरकार को इस दावे की सच्चाई के तथ्य प्रस्तुत करने चाहिए

यह भी पढ़ें-  सरकारी नौकरी: आरक्षण की भेंट चढ़ीं 40 हजार भर्तियां, अधर में 30 लाख बेरोजगारों का भविष्य

यह भी देखें -  नौकरी के लिए जयपुर में दंत चिकित्सकों ने निकाली रैली
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर